30.1 C
Delhi
Friday, July 19, 2024

अजीत सिंह हत्याकांड : पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी…

अजीत सिंह हत्याकांड : पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी…

# हत्या की साजिश में शामिल होने का केस दर्ज, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी..

# शूटआऊट में घायल अपराधी के इलाज के लिए डाक्टर को किया था फोन

# मुठभेड़ में मारा जा चुका है मुख्य शूटर गिरधारी

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                 मऊ जिले के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की लखनऊ के विभूतिखंड थाना क्षेत्र में छह जनवरी को गैंगवार में हुई हत्या के मामले में पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह पर शिंकजा कस गया है। अजीत सिंह की हत्या में शूटर गिरधारी उर्फ डॉक्टर के एनकाउंटर के बाद पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। इस केस में धनंजय सिंह के खिलाफ हत्या की साजिश में शामिल होने का केस भी दर्ज किया गया है। लखनऊ की सीजेएम कोर्ट ने धनंजय सिंह की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। इस केस में लखनऊ पुलिस ने धनंजय को हत्या की साजिश रचने का आरोपी बनाया है।


बताते चलें कि गैंगवार में अजित सिंह की हत्या में शामिल एक शूटर का इलाज करने वाले सुल्तानपुर के डॉ. एके सिंह ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह ने ही उन्हें फोन कर घायल शूटर के इलाज के लिए कहा था, उन्हें नहीं पता था कि घायल व्यक्ति अपराधी है और उसे गोली लगी है। डॉक्टर एके सिंह पर आईपीसी 176 की कार्रवाई के बाद पांच लाख रुपये के निजी मुचलके पर उन्हे थाने से छोड़ा गया था। डॉक्टर के बयान के बाद पुलिस यह मानकर चल रही थी कि अजीत सिंह हत्याकांड में धनंजय सिंह ने न सिर्फ शूटर्स मुहैया करवाए बल्कि उन्हें पुलिस से बचाने की भी कोशिश की। इस प्रकरण में पुलिस ने पूछताछ के लिए पूर्व सांसद धनंजय सिंह को नोटिस भी भेजा था जब धनंजय सिंह ने इसका संज्ञान नहीं लिया तो कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है। माना जा रहा है कि अब लखनऊ पुलिस जल्द धनंजय सिंह को गिरफ्तार करेगी।

गौरतलब है कि लखनऊ में बीती 6 जनवरी की रात विभूतिखंड क्षेत्र में कठौता चौराहे के पास मऊ जिले के गोहना के पूर्व जेष्ठ प्रमुख अजीत सिंह और उसके साथी मोहर सिंह पर कुछ शूटर्स ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थीं। अजीत सिंह को 25 गोलियां मारी गई थीं। इस मामले में मोहर सिंह की तहरीर पर आजमगढ़ के कुंटू सिंह, अखंड सिंह, शूटर गिरधारी समेत छह लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था। इस हत्याकांड में पुलिस अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। मुख्य शूटर गिरधारी को दिल्ली ने गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसे लखनऊ में 16 फरवरी को “मुठभेड़” में ढेर किया था। बताया जा रहा है कि रिमांड के दौरान गिरधारी ने कुंटू सिंह और सफेदपोश का पूरा कनेक्शन बताया था।
Feb 20, 2021

तहलका संवाद के लिए नीचे क्लिक करे ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓

Loading poll ...

Must Read

Tahalka24x7
Tahalka24x7
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... ?

गैर इरादतन हत्या में तीन भाइयों सहित चार को 10 वर्ष की कैद

गैर इरादतन हत्या में तीन भाइयों सहित चार को 10 वर्ष की कैद # मकान के विवाद को लेकर 12...

More Articles Like This