अपर सिटी मजिस्ट्रेट के बेटे से दारोगा को पंगा लेना पड़ा भारी

अपर सिटी मजिस्ट्रेट के बेटे से दारोगा को पंगा लेना पड़ा भारी

# दारोगा की कार के कागजात की जांच-पड़ताल का आदेश

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
              सिंधोरा थाने पर तैनात एक दारोगा को अपर नगर मजिस्ट्रेट (एसीएम) के बेटे से पंगा लेना महंगा पड़ गया। गाड़ी पर नीली बत्ती का दुरुपयोग करने के आरोप में एसीएम के बेटे को मारने-पीटने के मामले में तहसील में तलब दारोगा एसडीएम के सामने अपनी ही गाड़ी के कागजात नहीं दिखा सका। इस पर एसडीएम ने गाड़ी के कागजात की जांच करने का आदेश जारी कर दिया। 

चोलापुर थाने के रौना खुर्द गांव निवासी एक युवक मंगलवार की रात बड़ागांव थाना क्षेत्र के बिरांव से अपने एक रिश्तेदार के साथ लौट रहे थे। उनका आरोप है कि फूलपुर थाना क्षेत्र के मंगारी (गंगापुर) पेट्रोल पंप के समीप पहुंचे तो सिंधोरा थाने के दरोगा ने नीली बत्ती लगी कार को रोका।
युवक ने अपने पिता के बरेली में अपर नगर मजिस्ट्रेट के पद पर तैनात होने की बात कहते हुए परिचय दिया और कागजात दिखाए तो नीली बत्ती का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए दारोगा ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। बीच-बचाव करने पहुंचे रिश्तेदार को भी पीटा और दोनों को सिंधोरा थाने ले गए।

युवक ने इसकी शिकायत एसडीएम पिंडरा जयप्रकाश से की। एसडीएम ने सिंधोरा इंस्पेक्टर के जरिए दारोगा को तहसील में तलब किया। दारोगा अपनी हुंडई कार से एसडीएम कार्यालय पहुंच गया। भुक्तभोगी ने दारोगा के बिना कागजात की कार से क्षेत्र में धौंस जमाने का अंदेशा जताया। इस पर एसडीएम ने जब दारोगा से कागजात मांगे तो वह नहीं दे सका।

काफी देर बाद दूसरे के नाम के इंश्योरेंस की छायाप्रति दिखाई। इस पर एसडीएम ने फटकार लगाई और सीओ पिंडरा को इस आशय के साथ आदेशित किया कि कार के कागजात न होने पर जांच करते हुए उचित कार्रवाई करें। 
Previous articleचार दिन से लापता मऊ निवासी 12वीं के छात्र का शव गाजीपुर में मिला, कई जगह चोट के निशान
Next articleरोडवेज की बेकाबू बस ने राहगीरों को रौंदा, चार घायल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏