अस्पताल में समय से आक्सीजन न पहुंचने से दो दर्जन मरीजों की दर्दनाक मौत

अस्पताल में समय से आक्सीजन न पहुंचने से दो दर्जन मरीजों की दर्दनाक मौत

# इनमें 12 कोरोना संक्रमित, जांच के आदेश, मुख्यमंत्री ने बुलाई कैबिनेट की आपात बैठक

# राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, मर गए या मारे गए…

लखनऊ/बेंगलुरु।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                   कर्नाटक के चामराजनगर जिले से बेहद दुखद खबर आयी है। यहां जिला अस्पताल में आक्सीजन की कमी के चलते 24 मरीजों ने दम तोड़ दिया, इनमें कोरोना संक्रमित मरीज भी शामिल थे। बताया जा रहा है कि बेल्लारी से समय पर ऑक्सीजन अस्पताल न पहुंचने के चलते इन मरीजों की मौत हुई है। हादसे के बाद मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने जिला कलेक्टर से बात की है। मुख्यमंत्री ने आज कैबिनेट की आपातकालीन बैठक बुलाई है।
अस्पताल के बाहर बिलखते मरीजों के परिजन
चामराजनगर के जिला इंचार्ज मंत्री एस सुरेश ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होने कहा कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऑक्सिजन की कमी के कारण कोरोना के 12 मरीजों समेत 24 मरीजों की मौत हो गई। सभी मरीज आईसीयू में भर्ती थे जहां अचानक ऑक्सिजन की सप्लाई बंद हो गई। अस्पताल के बाहर बिलखते रहे परिजन ऑक्सिजन की कमी से मरीजों की मौत को सूचना पर उनके परिजनों में हड़कंप मच गया। रोते-बिलखते परिजन अस्पताल के बाहर पहुंचे और हंगामा किया।
राहुल गांधी का ट्विट

इससे पहले कालाबुर्गी के केबीएन अस्पातल में ऑक्सीजन की कमी से चार मरीजों की मौत हो गई थी। इसी दिन सरकारी अस्पताल में लाइट कट जाने से वेंटिलेटर पर रहे एक मरीज की भी मौत हो गई थी। कांग्रेस नेता/सांसद राहुल गांधी ने कर्नाटक की राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूछा है कि ये ये लोग मरे हैं या मारे गए हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट करके ये बड़ा सवाल उठाया है।

Previous articleकोरोना संक्रमण के चलते यूपी में दो दिन का और बढ़ाया गया लाॅकडाउन
Next articleजौनपुर : दो बार उप ब्लाक प्रमुख व चार बार बीडीसी रहे पत्रकार को ग्रामीणों ने चुना प्रधान
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏