आजमगढ़ : पुलिस ने दुकानदारों को भगाया तो भड़की पूजा समितियां

आजमगढ़ : पुलिस ने दुकानदारों को भगाया तो भड़की पूजा समितियां

अतरौलिया।
फैज़ान अहमद
तहलका 24×7
                  मेले में बृहस्पतिवार की रात दुकान सजाकर बैठे दुकानदारों को पुलिस ने भगाना शुरू कर दिया। पुलिस की इस कार्रवाई से पूजा समितियों के लोग आक्रोशित हो गए और जमकर हंगामा किया। पूजा समितियों के सदस्यों ने मूर्ति विसर्जन न करने की चेतावनी दी।

अतरौलिया में शारदीय नवरात्र का मेला पूर्णिमा को लगता है। मेले के दूसरे दिन रात्रि 11 बजे अतरौलिया थाना के एसआई सुल्तान सिंह अपने तीन चार हमरहियों के साथ मेला भ्रमण के दौरान मेले में लगे फुटपाथ की दुकानों तथा मेलार्थियों को मेले में से भगाने लगे। जिससे मूर्ति समितियों में आक्रोश हो गया। बाजार की सभी मूर्ति समितियों के लोग एकत्रित होकर इसका पुरजोर विरोध कर जमकर हंगामा किए। हंगामे की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी गोपाल स्वरूप बाजपेई मेला पहुंचकर आक्रोशित दुर्गा पूजा समितियों को समझाने लगे। दुर्गा पूजा समितियों द्वारा रात में ही पुलिस की कार्यशैली की शिकायत डीएम तथा एसपी से की। सुल्तान सिंह द्वारा उठाए गए इस कदम से मूर्ति समितियां मूर्ति विसर्जन ना करने की चेतावनी देने लगी।
लगभग रात 12 बजे क्षेत्राधिकारी बूढ़नपुर गोपाल स्वरूप बाजपेई, प्रभारी निरीक्षक अतरौलिया राजेश कुमार सिंह सहित थाने के अन्य लोग मिलकर मूर्ति समितियों से बातचीत करके सुल्तान सिंह के कदम को निंदनीय बताते हुए मेला सुचारू रूप से चलाने का निवेदन किए। मूर्ति समितियों ने अपनी मांगों को रखते हुए बताया कि एक दिन का मेला शेष है। जिसने नगर की महिलाएं तथा नगर के आस-पास गांव की महिलाएं ही भ्रमण करती हैं। ऐसे में अगर पुलिस प्रशासन 11 बजे के बाद मेला बंद करवाता है तो मेले में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। अधिकारियों के आश्वासन दिया कि मेला किसी भी तरह से बाधित नहीं किया जाएगा। पुलिस की रवैया को देखते हुए मूर्ति समितियों ने मेले को सुचारू रूप से चलाने का निर्णय लिया।

Earn Money Online

Previous articleआजमगढ़-मऊ में बाढ़ का खतरा, नेपाल-उत्तराखंड से छोड़ा गया पानी
Next articleआजमगढ़ : दुष्कर्मी को मिली 20 वर्ष की कठोर कारावास की सजा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏