इमाम हुसैन ने जो शहादत दी उसकी कोई मिसाल नहीं- मौलाना अब्बास

इमाम हुसैन ने जो शहादत दी उसकी कोई मिसाल नहीं- मौलाना अब्बास

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               सिराज-ए-हिंद की गंगा जमुनी तहजीब को अपने आगोश में समेटे और हिंदू मुस्लिम एकता के प्रतीक अहियापुर इमाम दरगाह के तत्वाधान में कर्बला के प्यासे शहीदों की याद में सबिहे जुलजना व ताबूत अल मुबारक निकाला गया। जुलूस में आये सेवागारों ने कोविड-19 का पालन करते हुए अंजुमन शमशीर ए हैदरी सदर इमामबाड़ा नौहा ख्वानी मातम कर आंसुओं का नजराना इमाम हुसैन को पेश किया।

अंत में मौलाना अली अब्बास ने खिताब करते हुए कहा कि कर्बला के दिल सोच मंजर को ऐसा दर्शाया कि चारों ओर से लोग चीख पुकार करने लगे मौलाना ने कहा कि इंसान को अपनी लीडर पढ़े लिखे लोगों और इंसान पसंद लोगों को चुनना चाहिए। जिससे वह लीडर इंसान को सही रास्ता दिखा सके। मजलिस के बाद सबिहे ताबूत बरामद हुआ। अंत में सैय्यद हातिम अली ने लोगों का आभार प्रकट किया। इस दौरान सबीहुल हसन, मुशाहिद हुसैन, जैगम अब्बास, मेराज अली, आरिफ रिजवी, शरीफ रिजवी, जुल्फिकार अली सैफ अली आदि मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : लायंस क्लब क्षितिज ने कोरोना वारियर्स फार्मासिस्टों को किया सम्मानित
Next articleजौनपुर : ओज़ोन परत क्षरण पर्यावरण के लिए चिंताजनक- प्रो. बलराम पाणि
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏