किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को लेकर विवाद, अंतिम संस्कार से इंकार

किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को लेकर विवाद, अंतिम संस्कार से इंकार

# पुलिस-प्रशासन के हाथ पांव फूले, किसानों ने मांगी पोस्टमार्टम रिपोर्ट की कापी

# प्रियंका गांधी की पुलिस ने विधिवत दिखाई गिरफ्तारी, दीपेंद्र हुड्डा, अजय कुमार लल्लू सहित 11 लोग शामिल

# छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को एयरपोर्ट पर रोका गया, जमीन पर ही धरने पर बैठे

लखनऊ।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
              लखीमपुर के तिकुनिया में हुई हिंसा में 8 लोगों की मौत के मामले में किसानों एवं प्रशासन के बीच हुए समझौते का मामला अधर में फंसता दिख रहा है। अखबारों एवं न्यूज चैनलों पर ये खबर चलने कि किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी की मौत गोली लगने से न होने की बात है, को लेकर किसानों में फिर से आक्रोश व्याप्त हो गया है और उन्होंने मृत किसान का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है। किसानों का दावा है कि बहराइच के गुरमिंदर की मौत गोली लगने से हुई है। प्रर्दशनकारी किसानों ने स्वयं देखा था कि गुरमिंदर को गोली मारी गई थी।
तिकुनिया पुलिस चौकी में डटे मृत किसानों के परिजनों ने साफ कह दिया है कि जब तक उन्हे पोस्टमार्टम की कापी नहीं दी जाएगी और वे खुद नहीं देख लेंगे तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। किसानों ने यहां तक कहा कि यदि पीएम रिपोर्ट में बुलेट इंजरी की बात नहीं होगी तो शवों का फिर से पोस्टमार्टम किया जाए। ऐसा न होने पर वे शव को यहीं लाकर फिर से धरना-प्रर्दशन शुरू कर देंगे। इससे पुलिस-प्रशासन के हाथ पांव फूल गए हैं और पुलिस अधिकारी तिकुनिया पहुंचकर किसानों को मनाने में जुट गए हैं। खबर है कि 3 मृत किसानों का अंतिम संस्कार कर दिया गया है, लेकिन जिस किसान को गोली मारे जाने की बात कही जा रही है उसके परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है।
उधर सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस में हिरासत में रखीं गईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की अब विधिवत गिरफ्तारी दिखा दी गई है। प्रियंका गांधी एवं सांसद दीपेंद्र हुड्डा व यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू सहित 11 लोगों को पुलिस ने धारा 151/107 एवं 116 के तहत गिरफ्तार किया है। हरगांव थाना प्रभारी ने इस संबंध में मजिस्ट्रेट को चालानी रिपोर्ट भेजी है। पीएसी गेस्ट हाउस को अस्थाई जेल का रुप दे दिया गया है।
इस बीच सीतापुर जाकर प्रियंका गांधी से मिलने के लिए लखनऊ आए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रशासन ने एयरपोर्ट पर ही रोक दिया, उन्हे बाहर नहीं निकलने दिया गया जिसके विरोध में वे एयरपोर्ट पर ही जमीन पर धरना देकर बैठ गए हैं। भूपेश बघेल का स्वागत करने के लिए एयरपोर्ट पर पहुंचे कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी एवं पीएल पुनिया को भी पुलिस ने एयरपोर्ट से बाहर कर दिया जिसको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश है।
Previous articleजौनपुर : दुष्कर्म व पाक्सो मामले में फरार आरोपित गिरफ्तार
Next articleयोगी सरकार ने पत्रकार रमन कश्यप के परिजनों को सौंपा 45 लाख का चेक, एलजेए ने जताया आभार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏