कोरोना जंग के बीच “सप्लाई विवाद” में उलझे केंद्र और राज्य, हलकान हो रहे हैं आमजन

कोरोना जंग के बीच “सप्लाई विवाद” में उलझे केंद्र और राज्य, हलकान हो रहे हैं आमजन

नई दिल्ली।
स्पेशल डेस्क
तहलका 24×7
               कोरोना वायरस वैक्सीन से जंग के बीच भारत में सियासी संघर्ष भी जारी है। एक के बाद एक नए मुद्दों पर राज्य और केंद्र सरकार के बीच विवाद बना हुआ है। ऑक्सीजन और दवा सप्लाई जैसी कई बातें इनमें शामिल हैं। हाल ही में ताजा रार प्रदेशों में वैक्सीन सप्लाई को लेकर जारी है ऐसे में एक आम आदमी जिसे मामले की पूरी तरह जानकारी नहीं है, वो भी इसमें परेशान होता जा रहा है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र और राज्य सरकार दोनों मई में वैक्सीन ऑर्डर के अलग-अलग आंकड़े पेश कर रहे हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक, राजधानी में हालात इतने खराब हो चुके हैं कि सप्लाई न होने की स्थिति में सरकार को कई वैक्सीन केंद्र बंद करने पड़ सकते हैं। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कहते हैं ‘हम केंद्र से और ज्यादा डोज के लिए कह रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अगर यही हालात रहे, तो हमें वैक्सीन सेंटर्स बंद करने होंगे. हमें वैक्सीन चाहिए, जो केंद्र उपलब्ध नहीं करा रहा है’।

# केंद्र ने भी किया पलटवार

डिप्टी सीएम सिसोदिया के बयान पर सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा, ‘केंद्र ने दिल्ली को जरूरत के डोज उपलब्ध कराए हैं, लेकिन उनकी तरफ से कुछ कुप्रबंधन है’ पात्रा ने आरोप लगाए, ‘वैक्सीन संभालने के बजाए, वे केंद्र पर आरोप लगा रहे हैं.’ सिसोदिया ने दावा किया है कि उनकी सरकार ने 1.34 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया था, लेकिन केंद्र ने मई के लिए केवल 3.5 लाख डोज ही मंजूर किए।

हालांकि, इससे आम आदमी खासा परेशान हो रहा है। कई लाभार्थियों को इंतजार करना पड़ रहा है साथ ही कई लोगों के अपॉइंटमेंट्स भी कैंसिल हुई है। तहलका24×7 से बातचीत में 23 वर्षीय करिश्मा ने कहा है कि वे काफी दिनों से वैक्सीन प्राप्त करने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन सफल नहीं हो सकी. उन्होंने कहा, ‘मैंने अपॉइंटमेंट बुक किया था और खुद को 1 मई को सुबह 11-12:30 बजे के स्लॉट में रजिस्टर किया लेकिन जब भी टीकाकरण शुरू होने वाला था, तो अखबार में आया कि वैक्सीन नहीं आई है उसी दिन मेरे पास नोटिफिकेशन आया कि अपॉइंटमेंट कैंसिल हो गई है। मैं अभी भी नया स्लॉट हासिल करने की कोशिश कर रही हूं…
Previous articleकिसान आंदोलन : रेप केस में योगेंद्र यादव से पूछताछ, बोले- दोषियों को मिलनी चाहिए सज़ा
Next articleनव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को अभी शपथ का इंतजार, कोविड-19 की वजह से कतरा रही सरकार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏