कोरोना से मरे शिक्षकों की ड्यूटी लगी उपचुनाव में, गज़ब है यूपी का हाल

कोरोना से मरे शिक्षकों की ड्यूटी लगी उपचुनाव में, गज़ब है यूपी का हाल

लखनऊ/अमरोहा।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                कोरोना संक्रमण से मरने वाले कई शिक्षकों की ड्यूटी पंचायत उपचुनाव में लगाने का मामला प्रकाश में आया है। यहां तक कि सेवानिवृत्त और बीमार शिक्षकों को भी चुनाव में ड्यूटी पत्र जारी कर दिया। खुलासा होने पर मृतक शिक्षकों के परिजनों ने जिम्मेदार अफसरों पर कड़ी नाराजगी जताई है। फजीहत के बाद आनन-फानन में डयूटी पत्र वापस करते हुए रिजर्व में रखे गए कर्मचारियों को चुनाव डयूटी पर भेजा गया है।

अमरोहा जिले में ग्राम प्रधान के चार और सदस्य ग्राम पंचायत के 177 रिक्त पदों पर उपचुनाव कराया जा रहा है। पंचायतों के रिक्त पदों पर शनिवार को मतदान होना है। पोलिंग पार्टियों की रवानगी के दौरान शुक्रवार को अफसरों की लापरवाही का मामला सामने आया है। कोरोना संक्रमण के चलते जान गंवाने वाले कई शिक्षकों की पंचायत उपचुनाव में डयूटी लगा दी गई। चुनावी डयूटी पत्र देखकर मृतक शिक्षकों के परिजनों ने जिम्मेदार अफसरों पर कड़ी नाराजगी जताते हुए मौत का माखौल उड़ाने का आरोप लगाया है।

फजीहत के बाद अफसरों ने आनन-फानन में डयूटी काटते हुए रिजर्व में रखे गए मतदान कार्मिकों को मतदान कराने के लिए भेजा गया। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला मंत्री मुकेश चौधरी ने बताया कि दो मृतक शिक्षक, कई सेवानिवृत्त शिक्षक और कई बीमार शिक्षकों की डयूटी भी पंचायत उपचुनाव में मतदान कराने में लगा दी गई है इसमें अफसरों की लापरवाही रही है।

शिक्षक संघ इसका विरोध करता है। सीडीओ चंद्र शेखर शुक्ला ने बताया कि पंचायत चुनाव के दौरान जो डाटा फीड हुआ था, उसके आधार पर ही उपचुनाव में कर्मचारियों की डयूटी लगाई गई थी। जानकारी होने पर ड्यूटी संशोधित करते हुए रिजर्व स्टाफ को भेजा गया है।
Previous article18 में से 11 पदों पर एक ही जाति की नियुक्ति पर बांदा कृषि यूनिवर्सिटी में रार तेज
Next articleवाराणसी में विकास की सुस्त चाल : विकास कार्यों की धीमी गति पर कमिश्नर नाराज
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏