खाना बनाते समय सिलेंडर में हुए विस्फोट से दो मकान ढहे, 8 लोगों की मौत, 7 घायल

खाना बनाते समय सिलेंडर में हुए विस्फोट से दो मकान ढहे, 8 लोगों की मौत, 7 घायल

# मुख्यमंत्री के निर्देश पर अधिकारी मौके पर, बचाव कार्य जारी, एक बच्चा अभी मलवे में दबा

# मकान मालिक के पास था पटाखा बनाने का लाइसेंस

लखनऊ/गोंडा।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
                     यूपी में गोंडा जिले के टिकरी गांव के ठठेरा पुरवा के एक घर में खाना बनाते समय सिलेंडर में हुए ब्लास्ट से दो घर जमींदोज हो गए। घंटो तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर मलबे में दबे परिवार के 14 लोगों को निकाला गया, जिनमें से 8 की मौत हो गई, 7 लोगों को इलाज के लिये अस्पताल भेजा गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुःख व्यक्त करते हुए अधिकारियों को तत्काल राहत कार्य के निर्देश दिए हैं।
गोंडा के वजीरगंज थाना क्षेत्र के टिकरी गांव में रात लगभग 11 बजे खाना बनाते समय सिलेंडर में अचानक विस्फोट हो गया, जिससे गांव में हड़कंप मच गया। विस्फोट में दो मंजिला मकान एवं पड़ोस का घर भी जमींदोज हो गया। मलबे के नीचे 1 बच्चे के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। जिसका रेस्क्यू किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्घटना में हुई लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आईजी सुबह फिर मौके पर पहुंचे, रात में भी उन्होने निरीक्षण किया था। डीएम, एसडीएम, एसपी व कई थानों की पुलिस बचाव कार्य में जुटी हुई थी।

जिस मकान में यह हादसा हुआ, उसके मालिक नूरुल हसन के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस है, ऐसे में पुलिस जांच कर रही है कि यह हादसा आखिर हुआ कैसे। परिवार के बचे लोग हादसे की वजह गैस सिलेंडर में ब्लास्ट होना बता रहे हैं। गंभीर रूप से 6 घायलों को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। ब्लास्ट से ढहे दोनों मकान सटे हुए थे। बताया जा रहा है कि टिकरी गांव निवासी नुरुल हसन के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस था। धमाका इतना तेज था कि दो मंजिला मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। इससे सटा हुआ एक और मकान जमींदोज हो गया। सूचना पर पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद जेसीबी से मरवा हटाया गया।

आईजी राकेश सिंह, एसपी संतोष कुमार मिश्र मौके पर कैंप कर रहे हैं।विस्फोट के कारणों का पता लगाने के लिए फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है। मृतकों में नुरुल हसन का बेटा निसार (35 साल), शमशाद (28 साल), बेटी रुबाना बानो (32 साल), निसार अहमद की पत्नी सायरुन निशा (35 साल), बेटी नूरी सबा (12 साल) बेटा शहनवाज (14 साल) एवं मेराज (11 साल) व मो. शोएब (2 साल) शामिल है।
Previous articleसुल्तानपुर : लॉकडाउन हटा बेतहाशा भीड़ से बाजार पटा..
Next articleतुम्‍हारा पति मेरा है, तुम्‍हें मरना होगा, इतना कहकर पूर्व विधायक की बहू पर टूट पड़ी महिला..
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏