गाजीपुर में गंगा से बच्ची मिलने के बाद आजमगढ़ में पोखरी किनारे मिला नवजात

गाजीपुर में गंगा से बच्ची मिलने के बाद आजमगढ़ में पोखरी किनारे मिला नवजात

आजमगढ़।
तहलका 24×7
             गाजीपुर में गंगा में बहते लकड़ी के बक्से में बच्ची मिलने के बाद आजमगढ़ में पोखरी किनारे नवजात मिला है। रानी की सराय के दिलौरी गांव स्थित मुख्य मार्ग के किनारे पोखरी के पास से नवजात मिला है। पोखरी के पास स्थित एक क्षतिग्रस्त मंडई के नीचे से बुधवार की सुबह बच्चे के रोने की आवाज सुनकर लोगों को इसकी जानकारी हुई। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने नवजात को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया है।

चेकपोस्ट शाहगंज मार्ग स्थित दिलौरी गांव मे पोखरी के समीप एक क्षतिग्रस्त मंडई है। बुधवार की भोर में शौच के लिए गये ग्रामीणों ने मड़ई से बच्चे के रोने की आवाज सुनी तो नजदीक जाकर देखा। वहां कपड़े मे लिपटा नवजात रो रहा था। ग्रामीणों ने चौकीदार के माध्यम से इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने नवजात को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। एसओ दिलीप सिंह ने बताया कि बच्चा स्वस्थ्य है। जिला प्रोबेशन अधिकारी बीएल यादव ने बताया कि नवजात को महिला अस्पताल के एनआईसीयू में भर्ती कराया गया है।

इससे पहले मंगलवार को गाजीपुर में ददरी घाट पर गंगा में बहते लकड़ी के बक्से में एक नवजात बच्ची मिली थी। बक्से में चुनरी में लिपटी मिली बच्ची के साथ ही एक कुंडली भी मिली। उस पर बच्ची का नाम गंगा लिखा था। बक्से में देवी देवताओं की तस्वीर भी लगी हुई थी। बच्ची के रोने की आवाज सुनकर एक मल्लाह ने बक्से को गंगा से निकाला और बच्ची को अपने घर ले आया था। बाद में उसे आशा ज्योति केंद्र में रखा गया है। सीएम योगी ने बच्ची के पालन पोषण का खर्च उठाने की जिम्मेदारी अधिकारियों को देते हुए मल्लाह को भी सरकारी आवास देने का निर्देश दिया है।
Previous articleआगरा में निर्माणाधीन मकान गिरा, तीन बच्चों की मौत, पांच लोग घायल
Next articleIAS अफसर पर MBBS छात्रा ने लगाया यौन शोषण का आरोप
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏