चाचा-चाची और भाइयों को गोली मारने वाला भतीजा गिरफ्तार

चाचा-चाची और भाइयों को गोली मारने वाला भतीजा गिरफ्तार

# गंभीर रूप से घायल चाची की भी हुई मृत्यु, भाभी को भी चाहता था मारना

# मौके पर मिले टूटे बटन से खुला चार लोगों की हत्या का राज

लखनऊ/गाजियाबाद।
विजय आनंद वर्मा
तहलका 24×7
           गाजियाबाद के लोनी में चौक थाना क्षेत्र के टोली मोहल्ले में एक ही परिवार के तीन लोगों की रविवार की रात तीन बजे हुई हत्या के मामले में पुलिस ने मृतक कपड़ा कारोबारी रईसुद्दीन के भतीजे अयूब को गिरफ्तार किया है। वहीं सोमवार की गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल रईसुद्दीन की पत्नी ने मंगलवार को इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस घटना में अब चार लोगों की जान जा चुकी है।
गाजियाबाद के लोनी में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या के मामले में पुलिस ने रईसुद्दीन के भतीजे अयूब को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि अयूब के शर्ट का बटन टूटकर मौके पर गिर गया था, इसी बटन से पुलिस हत्यारे तक पहुंच गई। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपी ने ही अकेले चारों लोगों की हत्या की है। हैरानी की बात ये है कि हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी परिवार के सदस्यों के साथ अस्पताल भी गया था।
पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि आर्थिक तंगी के चलते आरोपी अपने चाचा के घर पैसे मांगने गया था, इसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद गुस्से में उसने अपने चाचा कपड़ा कारोबारी रईसुद्दीन (65 वर्ष), चाची फातिमा (60 वर्ष) और दो भाइयों अजहरूद्दीन (28 वर्ष) और इमरान (24 वर्ष) को गोली मार दी। रईसुद्दीन व उनके दोनों बेटों की सोमवार को ही मौत हो गई थी।
आरोपी अपनी भाभी की भी हत्या करना चाहता था लेकिन गोली नहीं चलने की वजह से वह बच गई। गंभीर रूप से घायल फातिमा ने मंगलवार को दम तोड़ दिया। हत्याकांड के खुलासे के लिए तेजतर्रार पुलिस अधिकारियों की टीमें गठित कीं गईं थी। पुलिस द्वारा एक दिन बाद चाचा-चाची एवं भाइयों की हत्या में भतीजे अयूब की गिरफ्तारी से हर कोई हैरान है।
Previous articleगाजीपुर : मनबढ़ युवकों ने महिला से मारपीट कर ढहाया टीनशेड
Next articleजौनपुर : अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने का मन बना चुकी है जनता- बाबा दूबे
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏