चैन स्नैचिंग रोकने में वाराणसी पुलिस नाकाम, 24 घंटे में हुई तीन वारदात

चैन स्नैचिंग रोकने में वाराणसी पुलिस नाकाम, 24 घंटे में हुई तीन वारदात

# बुधवार को असलहे से आतंकित कर बदमाशों ने महिला से छीनी चेन

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
          वाराणसी में लगातार चेन छिनैती की घटनाएं पुलिस के लिए चुनौती का सबब बन गई हैं। बाइक सवार बदमाश महिलाओं को निशाना बना रहे हैं। बीते 24 घंटे के अंदर चेन छिनैती की तीन घटनाओं के बाद से पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठने लगे हैं। बुधवार दोपहर नगवा पुलिस चौकी से महज 500 मीटर की दूरी पर लुटेरों ने वारदात को अंजाम दिया।
बदमाशों ने पिस्तौल की दम पर 65 वर्षीय महिला से सोने की चेन छीन ली। लूट की घटना में लहराया गया पिस्टल सीसीटीवी कैमरे में कैद है। वारदात को अंजाम देने के बाद चेन लुटेरे सामने घाट से मलहिया होकर हाइवे की तरफ भाग गए। घटना की सूचना मिलने के काफी देर बाद मौके पर फैंटम के जवान पहुंचे। इंस्पेक्टर लंका महेश पांडेय ने बताया कि यह कारनामा एक गैंग का है। उन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।
आरा विश्वविद्यालय से रिटायर्ड प्रोफेसर स्व. रविन्द्र नाथ सिंह की पत्नी मीना सिंह कृष्णनगर लेन न. 7 में रहती हैं। बुधवार दोपहर वो लंका दवा लेने के लिए गई थीं। दवा लेकर जब वो लौट रही थीं तो घर के समीप पहुंचने पर पीछे से एक अपाचे मोटर साइकिल सवार दो युवक पहुंचे। मीना सिंह को किसी का पता पूछने के बहाने रोका और सीधे पिस्तौल सटा दिया। इसके बाद गले से चेन निकलवा लिया। फिर पिस्तौल लहराते हुए भाग निकले। कॉलोनी के लोगों का आरोप हैं कि सप्ताह भर के भीतर यह दूसरी लूट की वारदात हुई है।
इससे पहले मंगलवार रात लंका थाना क्षेत्र के महामनापुरी कॉलोनी में घर के बाहर टहल रही इंद्रावती देवी के गले से झपटा मारकर बाइक सवारे बदमाशों ने चेन छीन लिया था। महामनापुरी कॉलोनी में रहने वाले लोगों का आरोप हैं कि ठीक ढंग से पुलिस गश्त नहीं होने के कारण लगातार चेन और मोबाइल लूट की वारदातें हो रही हैं। बता दें कि बीते एक सप्ताह में भेलूपुर और लंका थाना क्षेत्र में चेन लुटेरों ने कई वारदातों को अंजाम दिया है। लेकिन इन मामलों में पुलिस को अब तक कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी है।
सबसे बड़ा सवाल यह है कि पुलिस की कार्रवाई भी सिर्फ सीसीटीवी कैमरों पर टिकी हुई है। वहीं लोगों का कहना है कि सीसीटीवी कैमरों में घटनाएं कैद होने के बाद भी पुलिस की नाकामी जारी है। जिले में चेन स्नेचिंग की लगातार बढ़ रही घटनाओं ने अधिकारियों को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है। बीते एक के आंकड़ों पर नजर डालें तो एक दर्जन से ज्यादा चेन छिनैती की घटनाएं हुई हैं। इनमें से पुलिस इक्क-दुक्का मामलों में ही बदमाशों को दबोच सकी है। 
Previous articleदहशत : वाराणसी के ट्रांसपोर्टर से मांगी गई 50 लाख की रंगदारी
Next articleवर्दी पहने फर्जी सिपाही ने दिखाया रौब, दुकानदारों ने पीटकर किया पुलिस के हवाले
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏