जूता-चप्पल के गोदाम में लगी भीषण आग, पावर बॉक्स में हुई शार्ट सर्किट से घटी घटना

जूता-चप्पल के गोदाम में लगी भीषण आग, पावर बॉक्स में हुई शार्ट सर्किट से घटी घटना

# अंदर फंसे महिलाएं व बच्चों समेत आठ लोगों की जान राहत कर्मियों ने बचाई

वाराणसी।
मनीष वर्मा
तहलका 24×7
                 अंधरापुल स्थित एक जूता-चप्पल के दुकान व गोदाम में रविवार शाम शार्ट सर्किट से आग लग गई। सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर घर के अंदर फंसे महिलाओं, बच्चों समेत आठ लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। आग पर काबू पाने में फायर ब्रिगेड की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

चेतगंज थाना अंतर्गत अंधरापुल जूता बाजार में जूता-चप्पल कारोबारी संजीव कुमार गंभीर की दुकान व गोदाम है। मकान के ऊपरी तल्ले पर उनका परिवार रहता है। शाम पांच बजे वह किसी काम से नीचे दरवाजे तक गए थे। जहां देखा कि दुकान के अंदर से धुआं उठ रहा था। परिजनों को आग की सूचना देते हुए फायर ब्रिगेड को सूचित किया।

तब तक आसपास के लोग भी राहत बचाव को लेकर पहुंच गए। मौके पर फायर अफसर अनिमेष सिंह टीम संग पहुंचे और दुकान खोलकर देखा तो अंदर गोदाम में आग की लपटे उठ रहीं थीं। हादसे में लकड़ी की अलमारी, फर्नीचर, उसमें रखे जूते, चप्पल और सारा सामान जल रहा था।
विकराल आग को देखते हुए अनिमेष सिंह ने फायर ब्रिगेड तीन और गाड़ियां मंगाई। हालात को नियंत्रित करने के लिए जवान आधुनिक सेट पहनकर गोदाम में दाखिल हुए। देर शाम तक आग बुझाने का प्रयास किया गया। दुकान में आग लगने की घटना मिलते ही इलाके में भारी भीड़ जमा हो गई।

अंधरापुल-तेलियाबाग मार्ग पर कुछ देर के लिए आवागमन ठहर गया था। छत के ऊपर महिलाओं और बच्चों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए जब फायर ब्रिगेड की हाइड्रोलिक प्लेटफार्म पहुंचा तब लोगों ने राहत की सांस ली। उधर, कारोबारी के अनुसार लाख रुपये से अधिक की क्षति हुई है।

आग लगने की सूचना मिलते ही जूता बाजार के लोग सड़क पर आ गए। हर कोई अपने-अपने तरीके से आग से राहत व बचाव कार्य में जुटा। फायर ब्रिगेड के जवानों ने अपने तरीके से राहत बचाव करते हुए जुटे। वहीं गोदाम में लगी आग की लपटों ने फाल सीलिंग को झुलसाते हुए धीरे-धीरे धुएं का गुबार गोदाम से रोशनदान के रास्ते पीछे मकान के ऊपरी तल तक पहुंचा। 
दूसरे तल पर रहने वाले संजीव कुमार गंभीर के परिजनों को असहनीय घुटन महसूस हुई तो पूरा परिवार छत के ऊपर चला गया। मौकेे पर फायर अफसर अनिमेष सिंह ने हाइड्रोलिक प्लेटफार्म की सहायता से छत पर मौजूद पांच महिला, दो बच्चे और एक पुरुष को सुरक्षित तरीके से बाहर निकाला। अनिमेष सिंह ने बताया कि पावर बॉक्स में शार्ट सर्किट से घटना हुई है। आग पर काबू पा लिया गया है।
अग्निशमन विभाग की की गाड़ियों ने तकरीबन साढ़े तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रात आठ बजे आग पर काबू पाया। वहीं आग लगने की वजह से घटनास्थल पर उमड़ी तमाशबीनों की भीड़ के कारण अंधरापुल क्षेत्र और उसके इर्दगिर्द जाम लग गया था। अंधरापुल-तेलियाबाग मार्ग पर कुछ देर के लिए आवागमन ठहर गया था। छत के ऊपर महिलाओं और बच्चों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए जब फायर ब्रिगेड की हाईड्रोलिक प्लेटफार्म पहुंचा तब लोगों ने राहत की सांस ली। उधर, कारोबारी के अनुसार लाख रुपये से अधिक की क्षति हुई है। 
Previous articleजौनपुर : दुर्घटना में घायल वृद्ध ने उपचार के दौरान तोड़ा दम
Next articleजौनपुर : धर्म की रक्षा और पापियों के नाश के लिए प्रभु लेते हैं अवतार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏