जौनपुर : अपना दल प्रत्याशी के नामांकन से अधिकांश भाजपा नेताओं ने बनाई दूरी

जौनपुर : अपना दल प्रत्याशी के नामांकन से अधिकांश भाजपा नेताओं ने बनाई दूरी

# पूर्व सांसद हरिवंश सिंह की बहू नीलम सिंह हुई भाजपा बागी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              अपना दल की प्रत्याशी रीता पटेल के नामाकंन में उनके साथ भाजपा के मात्र दो विधायक डॉ हरेन्द्र प्रताप सिंह एंव दिनेश चौधरी मौजूद रहे उनके अलावा बीजेपी का कोई विधायक, पार्टी का पदाधिकारी न दिखने से गठबंधन पर सवालियां निशान गहरा गया। वहीं भाजपा से बगावत कर प्रतापगढ़ के पूर्व सांसद हरिबंश सिंह की बहू नीलम सिंह ने अपना नामाकंन कर दिया। वार्ड नम्बर 18 से बीजेपी सदस्य सुबेदार सिंह उनके प्रस्तावक रहे। नीलम सिंह द्वारा उठाये गये इस कदम की खासा चर्चा है है कि भाजपा के लिए बहुत कठिन डगर है अध्यक्ष पद की…

मालूम हो कि जौनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए भाजपा ने यहां अपना दल प्रत्याशी उतारने का फरमान जारी किया है। अपना दल ने रीता पटेल को अधिकृत उम्मीद्वार बनाया है। अपना दल का निर्णय आते ही बीजेपी समर्थित चुनाव लड़ने का सपना संजोए लोगों में मायूसी छा गयी। आज आखिरकार नीलम सिंह ने बगावत करते हुए दो सेटो में नामाकंन किया। भाजपा- अपना दल के कुल मिलाकर 17 सदस्य होने के कारण पहले से गठबंधन की प्रत्याशी मुश्किल में थी लेकिन आज नीलम सिंह के नामाकंन करने से जीत की राह बहुत कठिन हो गयी है।

नामाकंन में बीजेपी के मात्र दो विधायको के अलावा पूरी भाजपा टीम नदारद रहने के पीछे दोनों विधायकों और अपना दल एस ने सफाई देते हुए कहा कि पार्टी के पदाधिकारी जिले से बाहर है, कल शाम को टिकट फाइनल हुआ है। समय कम होने के कारण हमारे पदाधिकारी नही पहुंच पाये। सभी ने पूरे दावे के साथ कहा कि भाजपा-अपना दल एक साथ है, हम लोग एक साथ कार्य करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर काबिज होगें।
Previous articleजौनपुर : पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में वांछित एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार
Next articleतीन लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए लेबर कमिश्नर रंगे हाथों गिरफ्तार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏