जौनपुर : अहीर जाति को पिछड़ा वर्ग से निकाले जाने के लिए सौंपा ज्ञापन

जौनपुर : अहीर जाति को पिछड़ा वर्ग से निकाले जाने के लिए सौंपा ज्ञापन

# बीजेपी नेताओं ने महामहिम को संबोधित ज्ञापन जिला मजिस्ट्रेट को सौंपा

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                  भाजपा नेता व पूर्व सभासद सुधांशु सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार को सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा सर्व सम्पन्न अहीर जाति को पिछड़ा वर्ग सूची से निकाले जाने के सम्बन्ध में महामहिम राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन जिला मजिस्ट्रेट को सौंपा गया।
भाजपा नेताओं की मांग है कि वर्तमान में पिछड़ा वर्ग सूची में शामिल अहीर जाति अपनी वर्ग सूची में सामाजिक, आर्थिक एवं राजनैतिक स्तर पर सर्वाधिक सम्पन्न हो चुकी है और शैक्षिक व सामाजिक स्तर पर भी इनकी स्वीकार्यता बहुत बढ़ चुकी है। पिछड़ा वर्ग सूची की यह जाति कृषि क्षेत्र, राजनैतिक जागरूकता और आर्थिक क्षेत्र में पिछड़ा वर्ग की अन्य जातियों की तुलना में सर्वोच्च स्थान पर है। पिछड़े वर्ग की अन्य जातियों को बहुत पीछे छोड़ चुकी यह जाति (अहीर) अब अनारक्षित वर्ग की जातियों में भी विशिष्ठ स्थान पर है और सार्वजनिक नियोजन क्षेत्र में 67% से अधिक प्रतिशत का नियोजन (नियुक्ति) प्राप्त करके अब आरक्षित श्रेणी योग्य नहीं रह गयी है।
राघवेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में बनी चार सदस्यीय उप्र पिछड़ा वर्ग सामाजिक न्याय समिति की वर्ष 2019 की अनुशंसा, जिसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है, में भी अहीर जाति के उत्थान उनकी आर्थिक उपलब्धियों व सामाजिक स्वीकार्यता के आधार पर उन्हें पिछड़ा वर्ग से निकाला जाना सामाजिक बराबरी के लिए आवश्यक बताया गया है। बताना आवश्यक है कि ऐसा किये जाने की दशा में कोइरी, निषाद, केवट, राजभर, कुम्हार, कश्यप आदि दूसरे नम्बर की पिछड़ी जातियों के साथ भी सामाजिक न्याय के रास्ते खुल सकते हैं और नियोजन में इनके प्रतिशत बढ़ सकते हैं। अन्य आधार पर भी अहीर जातियों को पिछड़ा वर्ग से निकाला जाना तीव्र आवश्यक है।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : रामकुमार शुक्ला का गणतंत्र दिवस परेड हेतु हुआ चयन
Next articleजौनपुर : कूएं में गिरे बेजुबान को सुरक्षित निकाला गया बाहर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏