जौनपुर : आईएमए ने किया वानर सेना के रक्तवीरों को सम्मानित

जौनपुर : आईएमए ने किया वानर सेना के रक्तवीरों को सम्मानित

# ऐतिहासिक कार्य के लिए देवदूत वानर सेना सम्मानित

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               देवदूत वानर सेना के सदस्यों द्वारा गत 30 जून को तिलकधारी महाविद्यालय के महाराणा प्रताप व्यायामशाला में रक्तदान महाशिविर आयोजित किया गया था जिसमे वानर सेना द्वारा उत्तर प्रदेश का रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य था लेकिन स्वास्थ्य कारणों से 100 से भी अधिक रक्तदाता रक्तदान से वंचित रह गए फिर भी वानर सेना ने 357 यूनिट रक्तदान कराकर जौनपुर को उत्तरप्रदेश में दूसरा स्थान दिलाने में कामयाबी हासिल की।
कोरोना काल के दूसरे चरण में जब जरूरतमन्दों हेतु वानर सेना मदद के लिए आगे आयी तो समाज के तथाकथित प्रबुद्धजनों द्वारा आलोचनात्मक दृष्टिकोण अपनाया गया कुछ ने मजाक भी बनाया लेकिन फिर भी वानर सेना के सदस्य लोगों की मदद के लिए लगातार डटे रहे। वानर सेना के सदस्यों ने लोगो को खून से लेकर भोजन तक कि मदद पहुंचाने का बीड़ा उठाया और उसे धरातल पर कर दिखाया। एक समय ऐसा भी आया कि जिला चिकित्सालय के रक्तकोष में रक्त की कमी के कारण मुख्य शल्य चिकित्सा अधीक्षक द्वारा वानर सेना के सदस्य को रक्तदान शिविर कराए जाने की गुहार लगाई गई।
वानर सेना के रक्तदाताओं की बढ़ती तादाद देखकर सीएमएस के हाथ खड़ा कर देने के बाद वानर सेना के सदस्यों ने आईएमए जौनपुर की मदद से वाराणसी, सुल्तानपुर, प्रयागराज, मिर्जापुर के ब्लड बैंक संस्थान द्वारा रक्तदान कार्यक्रम को सम्पन्न कराने का निर्णय लिया। संगठन के प्रमुख अजीत प्रताप सिंह के आह्वान पर अतुल सिंह व विकास तिवारी के संयुक्त तत्वाधान में 30 जून को बड़े शिविर का आयोजन किया गया जिसमें रिकॉर्ड 357 यूनिट रक्तदान हुआ इसी के साथ जौनपुर प्रदेश में दूसरा सबसे अधिक रक्तदान करने वाला जिला घोषित हुआ।
देवदूत वानर सेना की इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के दिन आईएमए की मीटिंग हाल में जनपद जौनपुर के समस्त चिकित्सको की उपस्थिति में चिकित्सक संघ के पदाधिकारियों द्वारा वानर सेना के पांच सदस्यों को अंगवस्त्र व स्मृतिचिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में रक्तदान कार्यक्रम के द्वय आयोजक विकास तिवारी व अतुल सिंह के साथ डॉ एसडी अब्बासी, अवनींद्र यादव, तुषार श्रीवास्तव सम्मिलित रहे।

आईएमए के अध्यक्ष डॉ एन के सिंह ने जनपद के समस्त चिकित्सकों की तरफ से वानर सेना की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए कहा कि भले ही जुबां हमारी है पर शब्द सभी चिकित्सकों के है और हमारे पास वानर सेना की तारीफ के लिए शब्दों का अभाव है, वानर सेना ने जो कर दिखाया वह जनपद जौनपुर के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा।
आईएमए मीटिंग हाल में प्रमुख रूप से डॉ हरेंद्र सिंह, डॉ अजीत कपूर, डॉ मनमोहन श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ राकेश कुमार, सीएमओ डॉ अनिल शर्मा, डॉ वी एस उपाध्याय, डॉ सुभाष सिंह, डॉ शुभा सिंह, डॉ संजय सिंह, डॉ आरपी यादव, डॉ विकेश उपाध्याय, डॉ ए के सिंह कैप्टन, डॉ पीआर यादव, डॉ विपुल सिंह, डॉ शैली मोहन, डॉ शशांक समेत जनपद के समस्त चिकित्सक उपस्थित रहे संचालन डॉ ए ए जाफरी ने किया।
Previous articleजौनपुर : नहीं रहे सैकड़ों बच्चों का भविष्य संवारने वाले शिक्षक राममहंथ पांडेय
Next articleजौनपुर : “बाल संरक्षण योजना एवं कोविड-19 से प्रभावित बच्चे” विषय पर संगोष्ठी आयोजित
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏