जौनपुर : आम समस्या की तरह होती है अल्जाइमर रोग की शुरूआत- डा. उत्तम गुप्ता

जौनपुर : आम समस्या की तरह होती है अल्जाइमर रोग की शुरूआत- डा. उत्तम गुप्ता

# मंगल क्लीनिक पर विश्व अल्जाइमर दिवस पर गोष्ठी आयोजित

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                      विश्व अल्जाइमर दिवस के अवसर पर मंगलवार को नगर के वाजिदपुर तिराहा स्थित मंगल क्लीनिक में डा उत्तम कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में गोष्ठी आयोजित की गई। इस मौके पर डा. उत्तम कुमार गुप्ता ने बताया कि अल्जाइमर रोग मुख्य रूप से उम्रदराज लोगों में देखने को मिलता है। इसकी शुरूआत आम समस्या की तरह होती है जो कुछ समय के बाद गंभीर रूप ले लेती है। ज्यादातर लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं जो उनके लिये नुकसानदायक साबित होता है। उनकी यही अज्ञानता या फिर अधूरा ज्ञान उन्हें इसका मरीज बना देता है।
डा. गुप्ता ने बताया कि अल्जाइमर रोग मुख्य रूप से डिमेंशिया का रूप है। डिमेंशिया बीमारी से तात्पर्य ऐसी स्थिति से है जब किसी व्यक्ति के दिमाग की कोशिकाएं कमजोर या नष्ट हो जाती हैं। इससे पीड़ित लोगों को भूलने की आदत पड़ जाती है जिसके चलते वे 1-2 मिनट पहले हुई बात को भी भूल जाते हैं। जब डिमेंशिया बढ़ जाती है तो उसे अल्जाइमर रोग कहा जाता है। अल्जाइमर रोग भारत समेत दुनिया भर में काफी तेजी से फैल रहा है।
अल्जाइमर रोग के लक्षण बताते हुए उन्होंने कहा कि अल्जाइमर रोग की शुरूआत आम बीमारी की तरह होती है जिसके कारण किसी भी व्यक्ति के लिये इस बात का पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि उसे अल्जाइमर बीमारी है। अल्जाइमर रोग का प्रमुख लक्षण यादाश्त में कमी होना है। इस बीमारी से पीड़ित लोगों को शुरूआत में थोड़ी-थोड़ी बातें भूलने लगती हैं जो कुछ समय के बाद काफी ज्यादा बढ़ जाती हैं। यदि किसी व्यक्ति को अचानक से बोलने या लिखने में परेशानी होने लगी है तो उसे इसकी सूचना डॉक्टर को देनी चाहिये क्योंकि यह अल्जाइमर रोग का लक्षण हो सकता है।
अल्जाइमर रोग उस स्थिति में भी हो सकता है जब किसी व्यक्ति को जगह या समय को लेकर दुविधा होने लगती है। जब किसी शख्स को फैसले लेने में परेशानी हो तो उसे इसे गंभीरता से लेना चाहिये। अल्जाइमर रोग का अन्य लक्षण मूड का बार-बार बदलना है। ऐसी स्थिति में लोगों को मेडिकल सहायता की जरूरत पड़ सकती है ताकि इसे समय रहते रोका जा सके। उन्होंने कहा कि यदि व्यक्ति नशीले पदार्थों का सेवन न करे, नियमित रूप से एक्सराइज करें, पोष्टिक भोजन लें, लोगों से मिले जुलें, मानसिक एक्सराइज करें तो अल्जाइमर रोग की आसानी से रोकथाम कर सकता है। इस अवसर पर मैनेजर शशि पाण्डेय, विशाल गुप्ता, अजय साहू, रमाकान्त यादव, त्रिलोकी यादव, निरूपमा, शनी उपाध्याय, अनिल, साधना, दीक्षा सिंह आदि मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : नशे की हालत में वाहन कदापि न चलाये- डॉ संजय कुमार
Next articleआरके सिन्हा को अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष व सुबोध कांत को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर महासभा ने जताया हर्ष
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏