जौनपुर : एआरटीओ कार्यालय पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने की छापेमारी, कई दलालों को लिया हिरासत में

जौनपुर : एआरटीओ कार्यालय पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने की छापेमारी, कई दलालों को लिया हिरासत में

# पकड़े गये दो चहेते दलाल को अधिकारी ने बताया अपना ड्राईवर

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
             गुरुवार की अपराह्न उप संभागीय परिवहन कार्यालय में उस समय हड़कंप मच गया जब ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशु नागपाल एंव सीओ सिटी भारी पुलिस फोर्स के साथ गुरुवार को एक बार फिर से धावा बोला। अचानक हुई छापेमारी से विभाग में हड़कंप मच गया दलाल डेंटल कालेज की तरफ से भाग निकले। आधा दर्जन से अधिक दलाल पुलिस के गिरफ्त में आये, जिसमें दो चहेत दलालों को अपना ड्राईबर बताया कर विभाग के अफसर ने पुलिस के चंगुल से छुड़ा लिया। 
ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशु नागपाल एंव सीओ सिटी भारी पुलिस फोर्स के साथ एआरटीओ कार्यालय पहुंचे, सबसे पहले अधिकारियों का दल कार्यालय के बाहर दुकानों की सघन तलाशी लिया तथा वहां पर मौजूद दुकानदारों से पुछताछ किया। अचानक अधिकारियों के धमकने से एआरटीओ कार्यालय में हड़कंप मच गया। इस दौरान आधा दर्जन से अधिक संदिग्ध लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इसमें अरविन्द यादव, नगेंद्र समेत तीन लोगों को अधिकारी ने अपना ड्राईबर बताकर छुड़ा लिया। विभागीय लोगो की मानें ये तीनों लोग साहेब के सबसे बड़े मीडिएटर हैं। इन्ही माध्यम से लेन-देन का काम होता है।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि बाहर दुकानों पर कुछ एआरटीओ से सम्बंधित कागजात मिले है। उसकी जांच करायी जा रही है। इन दुकानदारों के पास लाइसेंस नहीं है। पकड़े गये दलालों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। पत्रकारों के सवालों पर उन्होंने कहा कि दलालों और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों के सांठगांठ की भी जांच होगी इसमें जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। ये अभियान लगातार जारी रहेगा जो भी इसकी जद में आएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
Previous articleजौनपुर : मालगाड़ी के सामने कूद पड़ा युवक, दर्दनाक मौत
Next articleजौनपुर : पुलिस एनकाउंटर में एक लाख का इनामी बदमाश प्रशान्त पांडेय ढेर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏