जौनपुर : एक दिन के जन्में दुधमुहे शिशु को अज्ञात दंपति छोड़कर हुए फरार

जौनपुर : एक दिन के जन्में दुधमुहे शिशु को अज्ञात दंपति छोड़कर हुए फरार

# घण्टों बीत जाने के बाद समाजसेवी ने लिया बच्चे के पालन पोषण का जिम्मा

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
             लाइन बाजार थाना क्षेत्र अंतर्गत शीतला धाम चैकियां प्रांगण में शनिवार तड़के सुबह एक अजीबो-गरीब वाक्य घटित हुआ। जिसकी चर्चा पूरे क्षेत्र में तेजी से फैल गई। एक अज्ञात दंपति ने माला-फूल की दुकान पर अपने एक दिन के जन्में बच्चे को सौंपकर चले गए। घण्टों खोजबीन के बाद जब दंपति का पता नही चला तो एक समाजसेवी ने दुधमुहे बच्चे को अपनाया।शनिवार को भोर में लगभग 5 बजे माला फूल बेचने वाले दिनेश गोस्वामी के दुकान पर एक अज्ञात दंपति अपने नवजात शिशु को लेकर आये।

दंपती ने दिनेश गोस्वामी को अपना बच्चा सौंपते हुए कहा कि हमारे इस बच्चे को आप आधे घण्टे के लिए यही अपने तख्त पर सुलाये रहे हम लोग स्नान दर्शन कर के आ रहे हैं। दुकानदार ने बच्चे को अपने दुकान पर रखे तख्त पर सुला दिया। घण्टों बीत जाने के बाद जब उक्त दंपति अपने नवजात शिशु को लेने नहीं आये तो दिनेश गोस्वामी घबरा गया और वह अपने आस-पास के दुकानदारों को यह बात बताई। इस बात की जानकरी होते ही दर्जनों दुकानदार और सभ्रांत लोग जुट गए।
लोगो ने घण्टों उक्त दंपति की पूरे मंदिर में खोजबीन किया लेकिन उनका कुछ पता नही चला। इसी दौरान चौकियां के ही समाजसेवी संतोष सोनकर ने लोगों से बच्चे को लेकर पालन पोषण करने की इच्छा जताई। स्थानीय लोगों ने उस नवजात शिशु को संतोष सोनकर को सौंप दिया। संतोष सोनकर ने इस मामले की सूचना पुलिस चौकी पर देते हुए वह और उनकी पत्नी इस बच्चे को अपने घर लाकर पालन पोषण में जुट गए। संतोष सोनकर को कोई औलाद नहीं है वहीं इस मामले में चौकी इंचार्ज राघवेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि इस मामले की जानकरी मिली है। संतोष सोनकर द्वारा चौकी पर सूचना दिया गया है।
Previous articleजौनपुर : श्रीकृष्ण की बरही पर आयोजित हुआ विशाल भंडारा
Next articleजौनपुर विधान सभा क्षेत्र में सम्पन्न हुआ भाजपा का प्रबुद्ध वर्ग का सम्मेलन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏