जौनपुर : ऐतिहासिक किसान आन्दोलन की जीत पर क्रांतिकारी बधाई

जौनपुर : ऐतिहासिक किसान आन्दोलन की जीत पर क्रांतिकारी बधाई

बदलापुर।
प्रियंका श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               प्रधानमंत्री द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के ऐलान के बाद छात्र संगठन- एआईडीएसओ के महासचिव सौरभ घोष ने बयान जारी करते हुए कहा कि यह किसानों और आम लोगों की जीत विश्व के पटल पर ऐतिहासिक छाप छोड़ेगा। किसानों द्वारा इन तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 1 वर्ष से निरंतर संघर्ष चलाया जा रहा है, जिसमें महिलाएं छात्र नौजवान मजदूर एवं समाज के मेहनतकश लोगों का हर तबका शामिल है। यह इस आंदोलन का दबाव ही है कि जिस ने प्रधानमंत्री को इस ऐलान के लिए विवश कर दिया। यह वीरतापूर्ण आंदोलन 700 से अधिक लोगों की कुर्बानियों को हमेशा याद रखेगा, जिन्होंने इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए अपनी जान न्यौछावर किए।

एआईडीएसओ ने इस आंदोलन के शुरू होने के पहले दिन से ही इसमें अपनी भागीदारी निभाई और “देश का छात्र किसानों के साथ” के नारे के साथ पूरे देश में छात्रों को संगठित करने का काम किया है। हम छात्र समुदाय को इस ऐतिहासिक आंदोलन में अपनी बेहतरीन भूमिका निभाने के लिए उनको क्रांतिकारी बधाई देते हैं। यह आंदोलन हमें सीख देता है कि इस दुनिया की कोई शक्ति चाहे वह कितना भी दमन करने की कोशिश करें मेहनतकश लोगों की साहसिक जनतांत्रिक लड़ाई को जीतने से नहीं रोक सकता है, बशर्ते वह संघर्ष सही दिशा में और अदम्य साहस के साथ लगातार चलाया जाए। हम भारत के छात्र समुदाय से अपील करते हैं कि वह पहले की तरह चौकसी के साथ इस आंदोलन को सहयोग करना जारी रखें जब तक इन तीन कृषि कानूनों को संसद द्वारा वापस नहीं ले लिया जाता, साथ ही नए ताकतों के साथ सभी फसलों के लागत मूल्य से 50% से अधिक समर्थन मूल्य तय करने की गारंटी करने, पूरे देश भर में किसानों के खिलाफ सभी प्रकार के मुकदमे वापस लेने एवं मोदी सरकार को शहीद किसानों के परिवारों की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य करने तक आंदोलन जारी रखें।

हम सभी छात्र समुदाय से इस ऐतिहासिक आंदोलन से सीख लेने की और विनाशकारी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 जो छात्रों का भविष्य, देश और समाज को बर्बाद करने वाली है के खिलाफ एक शक्तिशाली आंदोलन खड़ा करने की अपील करते हैं। इस अवसर पर एआईडीएसओ छात्र संगठन के उत्तर प्रदेश राज्य सचिव दिलीप कुमार ने किसान आन्दोलन की जीत पर संघर्षशील किसानों व नागरिकों को क्रांतिकारी बधाई दिया और किसान आन्दोलन में शहीद किसानों के प्रति विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित किया। आन्दोलन को आगे बढ़ाने का आह्वान भी किया।
Previous articleजौनपुर : जन्मदिन पर रानी लक्ष्मीबाई को किया गया नमन
Next articleजौनपुर : ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत, ट्रेन का इंजन फेल
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏