जौनपुर : कथित पत्रकारों ने पुलिस के नाम पर ऐंठे रूपये, मुकदमा दर्ज

जौनपुर : कथित पत्रकारों ने पुलिस के नाम पर ऐंठे रूपये, मुकदमा दर्ज

सुईथाकलां।
मो आसिफ
तहलका 24×7
                 कथित पत्रकारों द्वारा पुलिस के नाम पर माहौल बना कर रूपये ऐठनें का मामला प्रकाश में आया है। रूपये वापस मांगने पर कथित पत्रकारों ने पीड़ित को जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए मारा-पीटा और जान से मारने की धमकी दी। पीड़ित ने पुलिस को तहरीर देकर उचित न्याय की गुहार लगाई है।थाना क्षेत्र के लालापुर गांव निवासी तिलकधारी गौतम पुत्र बरसाती द्वारा दी गई तहरीर के मुताबिक उसका पुत्र बाजा बजाता है और मजदूरी करता है। उसको सूचना मिली कि किसी मामले में पुलिस उसको खोज रही है।

सुइथाकलां गांव निवासी जनार्दन सिंह, लालापुर गांव निवासी अखिलेश मौर्य एंव आशीष मिश्रा ने उसके बेटे को पुलिस से बचाने और मामला रफा-दफा करने के नाम पर 3600 रुपए ले लिए। इस मामले में जब तिलकधारी ने थाने पर जाकर जानकारी की तो पता चला कि उसके बेटे के खिलाफ कोई भी ऐसा मामला नहीं है जिसके बारे में पुलिस उसे खोज रही हो। तब पीड़ित ने उक्त कथित पत्रकारों से अपना पैसा वापस मांगा तो उन लोगों ने पैसा देने से इनकार कर दिया। जब पीड़ित ने दोबारा अपना पैसा मांगा तो जनार्दन सिंह और उसके दोनों साथियों ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए मारा-पीटा और जान से मारने की धमकी दी। तब थक हार कर पीड़ित ने उचित न्याय के लिए सरपतहां पुलिस से गुहार लगाई है।सरपतहां प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र सिंह ने बताया कि मामला अत्यंत गंभीर है क्योंकि पुलिस का भय दिखा कर मामला रफा-दफा करने के नाम पर धन उगाही बेहद संगीन अपराध है।

तहरीर के आधार पर कथित पत्रकारों के विरुद्ध भादवि की धारा 327, 504, 506 एंव Sc-St एक्ट 3(2 )(V) के तहत मुकदमा पंजीकृत कर मामले की छानबीन की जा रही है।सूत्रों के अनुसार उक्त कथित पत्रकारों का गिरोह दिन-रात थाने के इर्द-गिर्द डटा रहता था और आने-जाने वाले हर फरियादियों से मामले को निपटाने के नाम पर जमकर धन उगाही करता था। अब देखना होगा कि उक्त कथित पत्रकारों के गिरोह से पीड़ित को कब तक न्याय मिल पाता है और क्षेत्र वासियों को इन दलालों से कब तक मुक्ति मिल पाती है या कथित पत्रकारों के कारनामे मुकदमों के रूप में कागजों में गुम हो जाएंगे।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : शाम को घर से निकले थे खाना बनाने, सुबह मिली लाश
Next articleजौनपुर : कांग्रेसियों ने संविधान दिवस पर डॉ अम्बेडकर को किया नमन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏