जौनपुर : कनाडा से आई मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति का जौनपुर में होगा भव्य स्वागत

जौनपुर : कनाडा से आई मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति का जौनपुर में होगा भव्य स्वागत

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी की पहल पर मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति कनाडा सरकार ने भारत वापस भेजी है। सदियों पहले ग़ायब हुई अन्नपूर्णा की मूर्ति काशी में एक बार फिर स्थापित होगी, मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा खुद उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ 15 नवंबर को काशी में करेंगे। भगवान शिव की नगरी काशी को अन्न क्षेत्र भी कहा जाता है भगवान शिव ने काशी में मां अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी इसलिए काशी में मां अन्नपूर्णा का विशेष महत्व है।11 नवंबर को मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति दिल्ली से सुसज्जित वाहन से जुलुस के रूप में चलेगी यह 12 नवम्बर को सोरा, खासगंज में रुकी थी। 13 नवम्बर को कानपुर से चलकर अयोध्या में रुकेगी।

14 नवम्बर को अयोध्या से चलकर सुल्तानपुर से होते हुये प्रतापगढ़ में पहुँचेगी, प्रतापगढ़ और जौनपुर बार्डर मुंगरा बादशाहपुर के दौलतिया मन्दिर पर जिला प्रभारी राकेश त्रिवेदी, राज्य सभा सांसद सीमा द्विवेदी, मछ्ली शहर सांसद बीपी सरोज, राज्यमंत्री गिरीश चन्द्र यादव, विधायक रमेश चन्द्र मिश्रा, डॉ हरेन्द्र प्रसाद सिंह, दिनेश चौधरी, पूर्व सांसद केपी सिंह, अमित श्रीवास्तव, पीयूष गुप्ता, सुनील तिवारी, ब्लॉक प्रमुख सतेन्द्र सिंह फंटू सहित ब्लॉक प्रमुख गण, जिला पंचायत सदस्य गण सहित हजारों श्रद्धालुजन एवं जिलाधिकारी सहित जिले के प्रशासनिक अधिकारी शाम 4 बजे मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति को 111 ब्राह्मणों द्वारा बैदिक मंत्रोचार कर फूल वर्षा कर रिसीव करेंगे।उसके बाद मछलीशहर में पुष्प वर्षा कर स्वागत होगा, उसके उपरांत सिकरारा चौराहा पर भव्य स्वागत होगा, उसके उपरान्त शहर में पालीटेक्निक चौराहा पर भारत विकास परिषद एवं गंगा समग्र मां अन्नपूर्णा देवी की प्रतिमा का ब्राह्मणों द्वारा मंत्रोचार कर भव्य स्वागत होगा।

उसके बाद अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति कोतवाली चौराहा के लिये प्रस्थान करेगी जिसके बीच मे संस्कार भारती, दुर्गा पूजा महासमिति, महादेव सेना, जेब्रा, गीतांजलि, संस्कृति प्रकोष्ठ, बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ, प्रशस्य जेम्स जैसे तमाम सामाजिक संगठन द्वारा बीच-बीच में मा अन्नपूर्णा देवी के मूर्ति पर पुष्पवर्षा कर भव्य स्वागत किया जायेगा। कोतवाली चौराहा पर माँ अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति पर पुष्पवर्षा कर 111 ब्राह्मणों द्वारा मंत्रोचार कर भव्य स्वागत करते हुये जौनपुर के लाखो श्रद्धालुओं के दर्शन के लिये वाहन रोका जायेगा जहाँ माता का दर्शन श्रद्धालु जन करेंगे। उसके उपरान्त चहारसू चौराहा, सदभावना पुल, कलेक्ट्री चौराहा, अम्बेडकर तिराहा, गांधी तिराहा, जगदीशपुर क्रासिंग होते वाहन सिरकोनी बाजार पहुँचेगी जहाँ बीच-बीच मे पुष्पवर्षा होगी। जलालपुर चौराहा पर भव्य स्वागत होगा उसके उपरान्त करखियाव औद्योगिक क्षेत्र में वाराणसी बार्डर तक मां अन्नपूर्णा देवी के वाहन को वाराणसी के श्रद्धालुओं को सौंपते हुये अंतिम दर्शन कर जौनपुर के लिये वापस लौट आएंगे।
Previous articleजौनपुर : राम-केवट संवाद की लीला देख दर्शक हुए भाव-विभोर
Next articleजौनपुर : अजगर मिलने से क्षेत्र में फैली सनसनी
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏