जौनपुर : कार्य में शिथिलता बरतने पर एसडीएम ने लगाई तहसीलदार को फटकार

जौनपुर : कार्य में शिथिलता बरतने पर एसडीएम ने लगाई तहसीलदार को फटकार

केराकत।
अर्जुन पंडित
तहलका 24×7
               क्षेत्र अंतर्गत नरहन गांव के विवादित जमीन का निस्तारण करने में रूचि नहीं लेने पर एसडीएम चंद्रप्रकाश पाठक ने तहसीलदार रामसुधार राम को फटकार लगाई है। निस्तारण नहीं करने की सूरत में तहसीलदार से आख्य मांगी है।

एसडीएम ने तहसीलदार से लिखित रूप में कहा है कि बार बार कहने के बाद भी आपने न तो मामले में रूचि ली और न मौक़े पर गए यह कत्तई उचित नहीं है। उन्होंने एक बार फिर तहसीलदार को मौका देते हुए राजस्व, चकबंदी और पुलिस टीम के साथ मौके पर जाकर मामले का समाधान करने का निर्देश दिया है। इसके आलावा उन्होंने तहसीलदार को मामले का निस्तारण नहीं करा पाने की स्थिति में आख्या देने के लिए निर्देशित किया है।

बताया जाता है कि नरहन गांव में करीब सात बिस्वा जमीन को लेकर सरायबीरू गांव निवासी नितिन सोनकर और नरहन गांव निवासी लालचंद यादव, ज्ञानचंद यादव, विजय यादव, समराज यादव आदि से झगड़ा चल रहा है। इस मामले को लेकर दोनों पक्षों में मारपीट भी हो चुकी है। इसी मामले में एक पक्ष नितिन सोनकर ने जमीन की पैमाईश कराने के लिए तहसील प्रशासन से गुहार लगाई है लेकिन, शिकायत है कि आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिससे क्षुब्ध होकर नितिन ने आत्मदाह करने की धमकी तक दे डाली जिससे तहसील प्रशासन में हड़कंप मच गया।

इसके बाद एसडीएम चंद्र प्रकाश पाठक ने तहसीलदार राम सुधार राम को चकबंदी, राजस्व और पुलिस टीम के साथ मौके पर जाकर निस्तारण हेतु निर्देशित किया लेकिन उन्होंने रूचि नहीं दिखाई। जिस पर एसडीएम ने तहसीलदार को फटकार लगाई है और अंतिम मौका दिया है।
Previous articleजौनपुर : सम्मान समरोह में भगवामय हुए के प्रधान व बीडीसी सदस्य
Next articleजौनपुर : बिना किसी भेदभाव के होना चाहिए चहुमुंखी विकास-गिरीश चंद्र
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏