जौनपुर : कोरोना का कहर बदस्तूर जारी दो की हो चुकी है मौत, प्रशासन चुनाव में व्यस्त

जौनपुर : कोरोना का कहर बदस्तूर जारी दो की हो चुकी है मौत, प्रशासन चुनाव में व्यस्त

# परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप, जिलाधिकारी को सौंपा शिकायती पत्र

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                नगर के कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत वाजिदपुर उत्तरी निवासी उदय कुमार जायसवाल पुत्र स्व सुभाष चंद्र जायसवाल की शनिवार को कोरोना से मौत हो गयी। तीन दिन पहले हुए कोरोना संक्रांति उदय को महिला चिकित्सालय परिसर स्थित एल2 स्पेशल कोविड-19 हास्पिटल में भर्ती किया गया था। जिसकी हालत ख़राब होने की सूचना शनिवार को मरीज के भाई को एक घंटे पहले फोन द्वारा दिया गया। जब उदय का भाई एल2 स्पेशल कोविड हास्पिटल पहुंचा तो उसे बताया गया कि आपके भाई की मौत हो गई हैं।

मृतक के भाई ने अस्पताल कर्मियों पर आरोप लगाया कि मेरे भाई को बीपी व ऑक्सीजन की समस्या हो रही थी फिर भी उन्हें वेंटिलेटर पर नहीं रखा गया जबकि वेंटिलेटर की सुविधा वहाँ पर उपलब्ध थी और मुझे मेरे भाई से मिलने नहीं दिया गया। कोरोना संक्रमित उदय की मौत हो चुकी हैं और दूसरी तरफ उदय की मां भी अपने घर में हैं होम क्वारंटीन है। मृतक के भाई मनोज कुमार जयसवाल ने जिलाधिकारी को दिया प्रार्थना पत्र में आरोप लगाया है कि डॉक्टर और अस्पताल में मौजूद कर्मियों द्वारा उसके भाई की देखभाल नहीं की गई नहीं उसे ऑक्सीजन और न ही वेंटिलेटर पर रखा गया जिससे उसकी मौत हो गई। दोषियों के खिलाफ जांच कर विधिक कार्रवाई सुनिश्चित करें।

वहीं नगर के बागीचा उमर खाँ निवासी प्रदीप मिश्रा की पत्नी चित्रा मिश्रा की 8 अप्रैल को कोरोना संक्रमित होने पर मौत हो गई, जिसके बाद उनकी पत्नी के शव को जिला अस्पताल द्वारा सेनिटाईज कर पूरी तरह से पैक कर अस्पताल के कर्मचारी संग शव वाहन से अंतिम संस्कार के लिए मोक्ष द्वार भेजा गया। संक्रमित मृत महिला के पति प्रदीप मिश्रा ने अपनी गरीबी में कमाये हुए थोड़े से रुपये में जैसे तैसे अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी एवं दाह संस्कार की वस्तुओं को खरीद कर किसी तरह से अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार किया। जिसके लिए प्रदीप मिश्रा को किसी प्रकार की सरकारी या गैर सरकारी सहायता प्रदान नहीं हुई। वहीं इस मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राकेश कुमार सिंह ने बताया कि अब तक जिला अस्पताल में कोविड से दो लोगों की मौत हो चुकी है। अस्पताल में व्यवस्थाएं पूरी हैं कहीं कोई डॉक्टर की लापरवाही नहीं है फिर भी और प्रार्थी के प्रार्थना पत्र की जांच कराई जाएगी।
Apr 10, 2021

Previous articleजौनपुर : दुष्कर्म व हत्या के मामले में एफआईआर दर्ज करने का आदेश
Next articleजौनपुर : हत्यारे भाई को आजीवन कारावास
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏