जौनपुर : कोरोना से जंग में हारी एएनएम, हुई मौत, ग़मगीन हुआ स्वास्थ्य महकमा

जौनपुर : कोरोना से जंग में हारी एएनएम, हुई मौत, ग़मगीन हुआ स्वास्थ्य महकमा

# बेहतर इलाज के लिए पीजीआई आजमगढ़ में थी भर्ती, इलाज़ के दौरान हुई मौत

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
                  वैश्विक महामारी अपने आगोश में न जाने कितने लोगों की हंसती खेलती जिन्दगी को उजाड़ कर रख दिया है ऐसे ही इस महामारी में एक और ताज़ा मामला सामने आया है जहाँ पर गम्भीर रूप से कोरोना से संक्रमित एएनएम की इलाज़ के दौरान मौत हो गई। जिससे स्वास्थ्य महकमे में शोक की लहर दौड़ गयी।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोंधी स्थित ताखा पूरब में एएनएम रही 55 वर्षीय राजकुमारी को कोरोना संक्रमित होने के लक्षण दिखने लगे थे। इसके पश्चात उन्होंने 6 मई को कोविड टेस्ट कराई थी। कोविड-19 रिपोर्ट में पॉजिटिव आयी थी। संक्रमित होने के बाद से उनको सांस लेने में दिक्कत हो रही थी तो शाहगंज में बने कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उनकी स्थिति में सुधार होने के बजाय स्थिति गम्भीर होती जा रही थी। गम्भीर रूप से संक्रमित राजकुमारी को बेहतर इलाज़ के लिए रविवार को पीजीआई आजमगढ़ में शिफ्ट किया गया था।
जहां पर इलाज़ चल रहा था और स्थिति जस की तस बनी थी। सोमवार को इलाज़ के दौरान इन्होंने दम तोड़ दिया। आपको बता दे कि राजकुमारी उत्तर-प्रदेश के जनपद मऊ घोषी की मूल निवासी थी। शाहगंज में अपने पति महेंद्र के साथ रहती थी। उक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोंधी के ताखा गांव में एएनएम के पद पर तैनात होकर महामारी में अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रही थी। इसी दौरान कोरोना की चपेट में आ गयी थी। जांच में कोरोना पॉजिटिव पायी गयी थी। उन्होंने ने कोरोना के इलाज़ में जीवन से जंग हारकर दम तोड़ दिया।
Previous articleजौनपुर : अलग-अलग स्थानों पर हुई सड़क दुर्घटना में पांच घायल
Next articleजौनपुर : प्रभारी निरीक्षक की हुई भव्य विदाई
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏