जौनपुर : क्षय रोगियों को गोद लेने के लिए रेडक्रास सोसाइटी एंव आकांक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

जौनपुर : क्षय रोगियों को गोद लेने के लिए रेडक्रास सोसाइटी एंव आकांक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               जनपद के क्षयरोग ग्रसित रोगियों को गोद लेने हेतु रेडक्रास एवं आकांक्षा समिति के सौजन्य से एक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। महामहिम राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में आई थी तब उनके द्वारा रेड क्रास सोसायटी के साथ बैठक की गयी थी जिसमें उन्होंने निर्देश दिया था कि जनपद में क्षय रोग ग्रसित रोगियों को स्कूल, कालेज तथा विश्वविद्यालय के अध्यापकों द्वारा गोद लेकर उनकी देखभाल की जाए तथा समुचित इलाज कराया जाए। जिसके क्रम में आज आकांक्षा समिति तथा रेडक्रास सोसायटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

बैठक में अध्यक्ष आकांक्षा समिति डाॅ अंकिता राज ने कहा कि जनपद को शीघ्र टीवी मुक्त करना है जिसके लिए आवश्यक है कि टीवी ग्रसित रोगियों का अच्छे से इलाज किया जाए तथा लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि पुराने टीवी के मरीज जो ठीक हो चुके हैं उन्हें ब्रांड अम्बेसडर बनाकर जागरूकता फैलाई जाए इसके लिए एक कार्यशाला आयोजित किए जाने पर विचार किया जा रहा है, जिसमें जिला क्षय रोग अधिकारी एवं उनकी टीम समय-समय पर विश्वविद्यालय, कालेज एवं गावों में भ्रमण करते हुए क्षय रोग सम्बन्धी जागरूकता अभियान संचालित करेंगे।


रेडक्रास सोसाइटी के सचिव डाॅ मनोज वत्स ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि राज्यपाल ने निर्देश दिया था कि प्रधानमंत्री महोदय की आकांक्षा के अनुरूप 2025 तक देश को टीबी रोग से मुक्त कराना है इस मुहिम में उप्र में विश्वविद्यालय, कालेजो की इतनी संख्या है कि यदि वहां के प्राध्यापक और अन्य लोग लगे तो 2022-23 तक ही टीबी से मुक्त हो सकता है। इस क्रम में पूर्वान्चल विश्वविद्यालय द्वारा 555 क्षय रागियों एवं आकांक्षा समिति जौनपुर द्वारा कुल 13 क्षय रोगियों को गोद लिया गया। स्वास्थ्य विभाग के उपमुख्य चिकित्साधिकारी डा आर.के सिंह द्वारा रेड क्रास सोसायटी के कार्यो एंव क्षय रोगियों के हितों में किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी प्रदान की गयी।

रेडक्रास सोसायटी एवं आकांक्षा समिति की बैठक में आये स्वंयसेवी संगठन के प्रतिनिधियों, विश्वविद्यालय, महाविद्यालयों एवं इण्टर कालेजों के शिक्षकों को जिला क्षय रोग उन्मुलन केन्द्र के डीपीसी सलिल यादव द्वारा क्षय रोग के लक्षणों एवं उनके उपचार साथ ही क्षय रोगियों के लिए शासन द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं के बारें में विस्तार से जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में जिन प्राध्यापकों एवं समाजसेवियों ने क्षयरोग ग्रसित रोगियों को गोद लिया है उन्हें रेडक्रास सोसायटी एवं आकांक्षा समिति द्वारा प्रशस्ति पत्र भी दिया गया।

इस अवसर पर इन्द्रभान सिंह इन्दू, डा एम.एम जाफरी, रजिस्ट्रार महेन्द्र कुमार, प्रो. मानस पाण्डेय, डॉ अनामिका सिंह, डॉ नीता सिंह, डॉ पूनम सिंह, डॉ अनीता सिंह, डॉ वनिता सिंह, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ अन्जु सिंह, डॉ झांसी मिश्रा, डॉ सरिता, डॉ राधारानी, डॉ सुनीता मिश्रा, डॉ आरती सिंह, श्वेता सिंह, डॉ आरती जायसवाल, सोफिया, डॉ विमला सिंह, डॉ पारूल मौर्या, भूमिका गुप्ता, डॉ मेजर ए.के मौर्या, डॉ अरूण सिंह, एस.एन सिंह, विद्याधर राय, संन्तोष सिंह, सत्यव्रत त्रिपाठी, अमित गुप्ता, अतुल सिंह, रवि सहित रेडक्रास एवं आकांक्षा समिति के सदस्यगण उपस्थित रहे।
Feb 18, 2021

Previous articleजौनपुर : राज कालेज के इतिहास में डाॅ सुधा सिंह बनी पहली महिला चीफ प्राक्टर
Next articleशबनम को फांसी के फंदे पर लटकाने के लिए पूरी तरह से तैयार है पवन जल्लाद
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏