जौनपुर : गोमती नदी का बढ़ा जल स्तर, फसलें हुई जलमग्न

जौनपुर : गोमती नदी का बढ़ा जल स्तर, फसलें हुई जलमग्न

खुटहन।
मुलायम सोनी
तहलका 24×7
                क्षेत्र में जमकर हुई बरसात से आदि गंगा गोमती ने रौद्र रूप धारण करना शुरू कर दिया है। तटवर्ती आधा दर्जन गांवों के पचासों बीघे फसल जलमग्न हो गयी हैं। तटवर्ती गाँव शाहपुर सानी से निकले नाले में पानी आना शुरू होते ही किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरे खिंचने लगी है। अभी तक तो कई गांवों के किसानों का पचासों बीघा फसल जलमग्न हो चुकी है। बढ़ाव की स्थिति ऐसी ही रही तो फसले डूबने में ज्यादा देर नहीं है। ऐसी परिस्थिति में किसानो की भारी क्षति हो सकती है।
शाहपुर सानी गाँव मे गोमती नदी से निकला मोहारे बीर बाबा नाला नदी का जलस्तर बढ़ते ही उक्त गाँव सहित अहियापुर, गढ़ा, गोपालापुर, गुलरा, सियराबासी आदि गांवों की पचासों बीघा धान की फसल चपेट में ले लिया है। रविवार तक पानी बढ़कर पचासो बीघे से अधिक फसल जलमग्न कर चुका है। यदि अभी से घटाव शुरू हो गया तो फसलें और भी हरी भरी हो जायेगी। लेकिन अगर पानी बढ़ा तो किसानो की बड़ी क्षति होना निश्चित है। हालांकि जलस्तर मे बृद्धि बहुत धीमी होने के चलते अभी किसान आने वाली बड़ी मुसीबत से बचे हुए है। यदि रोज पानी बढ़ता रहा तो दो से तीन दिनों मे पूरी फसलें डूब सकती है। किसान समरनाथ यादव, रमाशंकर यादव, शंकर सिंह, सत्य नारात्रण तिवारी, मुरारी मिश्र, राधेश्याम यादव आदि का कहना है कि नदी मे धीमी रफ्तार से लगातार बृद्धि होना यह लक्षण अच्छा नही है। जिसको लेकर किसान चिन्तित है।
Previous articleजौनपुर : अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा इमामपुर गांव का पंचायत भवन
Next articleजौनपुर : सेवा और समर्पण सप्ताह के तहत निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का हुआ आयोजन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏