जौनपुर : जघन्य हत्या में संलिप्त अपराधियों को जल्द से जल्द भेंजे जेल- प्रदीप जायसवाल

जौनपुर : जघन्य हत्या में संलिप्त अपराधियों को जल्द से जल्द भेंजे जेल- प्रदीप जायसवाल

# अखिलेश जायसवाल के परिजनों को दिया जाय एक करोड़ मुआवजे और एक सरकारी नौकरी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               सिकरारा थानांतर्गत खपरहा बाजार निवासी व्यापारी अखिलेश जायसवाल को विगत 30 दिसम्बर सुबह टहलते समय बदमाशों द्वारा दिनदहाड़े अपहरण के बाद मारते मारते निर्मम हत्या कर शव पेट्रोल डालकर जलाने की जघन्य अपराध पर पूरे जनपद जौनपुर से लेकर प्रदेश के व्यापारियों में प्रदेश सरकार के लचर कानून व्यवस्था के प्रति गहरी नाराज़गी हो गई है। 

इस घटना में मृतक के परिजनों से मुलाकात के लिए समाजवादी व्यापार सभा, उप्र के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्वांचल प्रभारी व भारतीय वैश्य चेतना महासभा के युवा प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल खपरहा बाजार स्थित मृतक व्यापारी अखिलेश जायसवाल के आवास पर पहुंचा, वहां पर मृतक के परिजनों को ढ़ाढस बंधाया और हर सम्भव मदद दिलाने का प्रदेश आश्वासन भी दिया।

प्रदीप जायसवाल ने मीडिया को बताया कि पूरे प्रदेश में अपराधियों की सरकार चल रही है, व्यापारी समाज देश की अर्थ व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी होती है, किन्तु व्यापारियों की सम्मान और सुरक्षा की गारंटी नहीं है क्योंकि आए दिन उनके साथ प्रदेश में लूट, हत्या, अपरहण, गुंडा टैक्स की घटना हो रही है और अपराधी खुलेआम समाज में घूम रहे हैं। प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप जायसवाल ने बताया कि मृतक के चाचा ओम प्रकाश जायसवाल से जानकारी हुई कि पूरी घटना में पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन की घोर लापरवाही है, क्योंकि जमीन सम्बन्धी विवाद प्रकरण सिकरारा थाने को ज्ञात था और मृतक ने पूर्व में ही किसी अप्रिय घटना की आशंका भी थी अतः अपरहण के बाद व्यापारी अखिलेश जायसवाल की जान बच सकती थी, किन्तु समय पुलिस ने कोई कड़ा कदम नहीं उठाया

चाचा ने यह भी बताया कि अभी तक जिला प्रशासन को कोई उच्चाधिकारी परिजनों का हाल चाल भी अभी तक लेने नहीं आया और अमानवीयता की हद तो यह हो गई कि अभी तक जिला प्रशासन ने मृतक के शरीर का कोई भी अवशेष भी परिवार वालों को नहीं दिया कि अंतिम संस्कार और क्रिया कर्म को शुरू कर पाएं और खपरहां बाजार में दहशत व्याप्त है और मृतक की पत्नी एवं बच्चे अपने नानी के गांव चले गए हैं। प्रदीप जायसवाल ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की कि तत्काल इस जघन्य हत्या में सम्मिलित अपराधियों को गिरफ्तार कर गंभीर धाराओं में जेल भेजे तथा मृतक के परिजनों को एक करोड़ सरकारी मुआवजा एवं परिवार में एक सरकारी नौकरी देने का कार्य करें अन्यथा समाजवादी पार्टी आन्दोलन के लिए बाध्य है।

प्रदीप जायसवाल ने आगे भी कहा कि इस पूरी घटना की जानकारी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को दी जाएगी और जो भी यथा सम्भव मदद होगा उसे दिया जाएगा। प्रतिनिधि मंडल में मुख्य रूप से समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव विवेक रंजन यादव, जिला उपाध्यक्ष श्रवण जायसवाल, समाजवादी व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष संजीव साहू, जिला महासचिव सुनील यादव, प्रदेश सचिव विनोद साहू, सपा पूर्व महानगर अध्यक्ष पारस नाथ जायसवाल, भारतीय वैश्य चेतना महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविन्द गांधी, प्रदेश अध्यक्ष सतीश गांधी, विजय जायसवाल, बीज्जू विश्वकर्मा, संजय मिश्रा, संजय सेठ, अनुज जायसवाल, रितेश गुप्ता आदि उपस्थित थे

Earn Money Online

Previous articleगंगा एक्सप्रेस-वे से मिलेगा औद्योगिक विकास को बढ़ावा- डॉ लालजी
Next articleजौनपुर : 642 करोड़ की 488 विकास परियोजनाओं का हुआ लोकार्पण व शिलान्यास
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏