जौनपुर : जच्चा बच्चा मौत मामले में पीएम कार्यालय के आदेश पर जांच शुरु

जौनपुर : जच्चा बच्चा मौत मामले में पीएम कार्यालय के आदेश पर जांच शुरु

# तीन महीने पूर्व हुई थी घटना, सीएमओ ने गठित की तीन सदस्यी टीम

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
               आजमगढ़ मार्ग स्थित नीना अस्पताल में बीते 18 दिसंबर को ऑपरेशन के बाद प्रसूता व उसके गर्भस्थ शिशु की मौत की घटना के बाद कार्रवाई न होने से नाराज परिजनों ने मामले की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय को किया था जहां मामले को गंभीरता से लेते हुए पीएमओ कार्यालय ने जांच का निर्देश सीएमओ को दिया। सीएमओ ने घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की। जांच कमेटी टीम शनिवार को अस्पताल पहुंचकर जांच पड़ताल में जुटी रही।

 

आजमगढ़ जनपद के पलिया माफी गांव निवासी राजन शर्मा ने प्रधानमंत्री को शिकायती पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि गत 18 दिसंबर को वह अपनी गर्भवती पत्नी रूबी (22) को प्रसव के लिए नगर के आजमगढ़ मार्ग स्थित नीना अस्पताल में भर्ती कराया। जहां ऑपरेशन के उपरांत बच्चा हुआ। कुछ देर बाद ही जच्चे बच्चे की हालत खराब हो गई और 24 घंटे के भीतर जच्चा बच्चा की मौत हो गई। पीड़ित ने चिकित्सक दंपत्ति पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय से शिकायत करते हुए न्याय की गुहार लगाई।

चिकित्सक के विरूद्ध जांच कर कार्रवाई की मांग की। प्रधानमंत्री कार्यालय मामले को गंभीरता में लेते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी जौनपुर को जांच का आदेश दिया। आदेश पर सीएमओ ने डॉ आर के सिंह, डॉ मोहम्मद रफीक फारुकी व डॉ विकास सिंह को संयुक्त रुप से जांच की जिम्मेदारी दी। शनिवार को टीम के डॉ रफीक फारुकी अस्पताल पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की। जांच अधिकारी ने बताया कि मामले की जांच नए सिरे से की जा रही है जांच पूरी होने पर रिपोर्ट भेजी जाएगी।
Mar 20, 2021

Previous articleजौनपुर : लगातार आठवीं बार दिवाकर सिंह महामंत्री व शकील अहमद लगातार तीसरी बार अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित
Next articleजौनपुर : 325 मरीजों का जांच कर वितरित की गई निशुल्क दवा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏