34 C
Delhi
Tuesday, April 16, 2024

जौनपुर : जिसे दर्द का एहसास होता है वहीं दूसरों के दर्द को समझता है- ज्ञान प्रकाश

जौनपुर : जिसे दर्द का एहसास होता है वहीं दूसरों के दर्द को समझता है- ज्ञान प्रकाश

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
             दूसरों की मदद वही करता है जिसे दर्द का एहसास होता है उक्त प्रसंग को समाजसेवी ज्ञान प्रकाश सिंह ने बखूबी अंजाम दिया। तभी तो जब कोरोना की दूसरी लहर ने 6 भाई- बहनों के सिर से उनके माँ बाप का साया छीन कर उन्हें अनाथ बना दिया तो उनकी मदद के लिए समाजसेवी ज्ञान प्रकाश सिंह ने हाथ आगे बढ़ा दिया। उन्होंने अनाथ बच्चों के लिए जो वादा किया उसे पूरा करने के लिए उन्होंने कदम भी आगे बढ़ना शुरू कर दिया है। आज ज्ञान प्रकाश सिंह ने अनाथ बच्चों के लिए ढ़ाई लाख की एफडी उन्हें देकर उन्हें पढ़ाई जारी रखने के लिए मदद करने का आश्वासन भी दिया।
बता दें 

कि करंजाकला के पकड़ी गांव में कोरोना के कारण 6 भाई बहन अनाथ हो गए। ये खबर सोशल मीडिया समेत तमाम अखबारों में प्रकाशित हुई जिसके बाद बच्चों की मदद के लिए गोधना निवासी समाजसेवी ज्ञान प्रकाश सिंह आगे आये। उन्होंने बच्चों को गोंद लेने का फैसला किया। इसी क्रम में शुक्रवार को ज्ञान प्रकाश सिंह पकड़ी गांव में पहुँचे और बच्चों को ढ़ाई लाख की एफडी दिया। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ऐसे बच्चों की मदद के लिए वो हमेशा खड़े रहते है, आज उन्होंने ढ़ाई लाख की एफडी दिया है और आने वाले समय मे बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्च भी वहन करेंगे।
अगर बच्चे होस्टल में रहकर पढ़ना चाहेंगे तो वो उन्हें होस्टल में भेज कर पढ़ाई कराएंगे। इस दौरान ज्ञान प्रकाश सिंह की संस्था द्वारा गांव में जरूरतमंदों को भोजन का पैकेट भी वितरण किया गया। इस मौके पर विशेष रूप से काशी प्रांत के प्रांत कार्यवाहक मुरली पाल के अलावा अरविंद सिंह, रूपेश रघुवंशी (शिवा), रामकृष्ण दूबे, शरद पाठक, मयंक नारायण, मुकेश सिंह, सुनील यादव, रविन्द्र सिंह, सत्य प्रकाश सिंह, नीरज श्रीवास्तव, संजय तिवारी, शैलेश पाठक, मिथिलेश तिवारी, संजय कुमार गुप्ता व ग्राम प्रधान थानेदार यादव आदि लोग उपस्थित रहे।

तहलका संवाद के लिए नीचे क्लिक करे ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓

लाईव विजिटर्स

37009171
Total Visitors
398
Live visitors
Loading poll ...

Must Read

Tahalka24x7
Tahalka24x7
तहलका24x7 की मुहिम..."सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... ?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

रामकथा जीवन जीने की कला सिखाती है

रामकथा जीवन जीने की कला सिखाती है खेतासराय, जौनपुर।  अजीम सिद्दीकी  तहलका 24x7                 नगर के गोलाबाजार...

More Articles Like This