जौनपुर : जेल में कैदी की मौत से आक्रोशित बंदियों ने आगजनी कर काटा बवाल

जौनपुर : जेल में कैदी की मौत से आक्रोशित बंदियों ने आगजनी कर काटा बवाल

# आईजी, कमिश्नर, जिला प्रशासन समेत कई थानों की फोर्स मौके पर

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              जिला जेल में आज सज़ायाफ्ता कैदी की मौत को लेकर बन्दियों ने शुक्रवार की शाम को जेल प्रशासन के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए जेल में आगजनी करके बवाल कर दिया। बन्दियों के उत्पात से जनपद सहित वाराणसी मंडल के अधिकारी के हाथ-पांव फूल गये। कैदी की मौत की खबर मिलते ही जेल प्रशासन में हड़कम्प मच गया।

कैदी के मौत की खबर मिलते ही कैदियों में भारी आक्रोश व्याप्त हो गया। कैदियों ने जेल अस्पताल में तोड़फोड़ करने के बाद उत्पात मचाया है और आगजनी किया। स्थिति को काबू में करने के लिए डीएम, एसपी भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन स्थिति नियंत्रण के बाहर रही। कैदियों द्वारा की जा रही पत्थर बाज़ी के कारण पुलिस को आँसू गैस के गोले छोड़ना पड़ा।

बताते चलें कि रामपुर थाना क्षेत्र के बानीडीह गांव का निवासी बागीश मिश्र उर्फ सरपंच को बीते छह जनवरी को हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सज़ा हुआ था। जेलर ने बताया कि कल रात उसकी हालत खराब हो गई उसे पहले जेल के अस्पताल में भर्ती किया गया आज उसकी हालत नाजुक होने पर जिला अस्पताल भेजा गया अस्पताल पहुंचने से पहले उसकी मौत हो गई।
वहीं सजायाफ्ता कैदियों और बंदियों ने जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए तोड़फोड़ की। बैरकों से बाहर आकर कैदियों ने जेल पर कब्जा कर लिया। पगली घंटी बजने के बाद पीएसी सहित कई थानों की फोर्स जेल के अंदर पहुंची। हालात बेकाबू होने पर पुलिस ने कैदियों को नियंत्रित करने के लिए कई राउंड आंसू गैसे के गोले दागे। घंटों तक हंगामा चलता रहा कैदियों ने गैस सिलिंडर को भी कब्जे में ले लिया था।

बताया जा रहा है कि आक्रोशित बंदी अंदर तोड़फोड़ करने के साथ ही पुलिस पर पथराव कर रहे थे। शाम करीब साढ़े 4 बजे डीएम मनीष कुमार वर्मा और एसपी राजकरन नय्यर भी जेल में पहुंचे। ड्रोन कैमरे की मदद से पुलिस जेल के अंदर के हालात की निगरानी कर रही है जेल के बाहर भी सुरक्षा बढ़ाई गई।जिला प्रशासन की ओर से लगातार बन्दियो से बात करने की अपील की जाती रही लेकिन उसका कोई असर बन्दियों पर नहीं था सर्किल गेट बन्द कर पथराव करते रहे।

 

यहां बता दें कि इसके पहले 2002 सितंबर मे जेल प्रशासन के खिलाफ बगावत करते हुए बन्दियों ने बवाल किया था और लगभग 08 घन्टे तक जेल को अपने कब्जे में ले रखा था। दूसरी बार 2016 मे जेल प्रशासन की लापरवाही से नाराज बन्दियों ने पूरी रात जेल में बवाल किया था आज फिर तीसरी बार 04 जून 21 को जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जेल मे बन्द लगभग 1300 बन्दी और कैदी एक राय होकर आगजनी करते हुए बवाल कर दिया है। मौके पर जिला प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों सहित वाराणसी मंडल के आईजी, कमिश्नर मय फोर्स के साथ आ गये बन्दियों को मनाने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन जेल की स्थित तनाव पूर्ण बनी रही।
Previous articleजौनपुर : जेल में सजायाफ्ता कैदी की मौत होने से मचा हड़कंप
Next articleजौनपुर : जिसे दर्द का एहसास होता है वहीं दूसरों के दर्द को समझता है- ज्ञान प्रकाश
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏