जौनपुर : टूट गई आस थम गई सांस, कोरोना ने उजाड़ा एक और परिवार

जौनपुर : टूट गई आस थम गई सांस, कोरोना ने उजाड़ा एक और परिवार

केराकत।
विनोद कुमार
तहलका 24×7
                   विकास खण्ड केराकत अंतर्गत बेहड़ा गांव निवासिनी शिक्षामित्र चुनाव ड्यूटी के उपरांत कोरोना से ग्रसित हुई, व लगभग एक महीने बाद जिंदगी से जंग हारकर क्रूर काल के गाल में समा गई। मौत की खबर मिलते ही परिजनों समेत पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गयी। शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा रहा।
शिक्षामित्र माया देवी (फाइल फोटो)
केराकत के बेहड़ा गांव निवासिनी 48 वर्षीय माया देवी बीते माह चुनाव ड्यूटी के बाद घर आई व बीमार हो गई स्थिति बिगड़ने पर स्वजनों ने वाराणसी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया। कुछ दिन इलाज के बाद जब कोई सुधार न दिखा तो सर सुंदरलाल चिकित्सालय के कोरोना वार्ड में पिछले हफ्ते भर्ती कराया गया, जहाँ आज सुबह जिंदगी और मौत के रण में जिंदगी मात खा गई व शिक्षामित्र माया देवी इस दुनिया को अलविदा कह गई। ज्ञात हो कि माया के पति का 14 वर्ष पहले बीमारी की वजह से निधन हो गया था, माया के दो बच्चों में एक लड़की अश्विनी 28 व अभिषेक 21 है, आज जब माया इस दुनिया से गई तो दोनों बच्चे अनाथ हो गए, बच्चों के करुण कन्द्रन से पूरा माहौल गमगीन रहा, मौत की खबर सुनकर पूरे गाँव में सन्नाटा पसरा रहा।
Previous articleजौनपुर : सीएमओ ने किया पीएचसी सोंधी का औचक निरीक्षण
Next articleबाहुबली मुख्तार अंसारी की मऊ में करोड़ों की अवैध संपत्ति जब्त
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏