जौनपुर : ट्यूबेल कर्मियों के फर्जीवाड़े से परेशान हैं केराकत के किसान

जौनपुर : ट्यूबेल कर्मियों के फर्जीवाड़े से परेशान हैं केराकत के किसान

# समस्या का नहीं हुआ निदान तो धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे किसान

केराकत।
विनोद कुमार
तहलका 24×7
              क्षेत्र के ट्यूबल कर्मचारियों की मनमानी और फर्जीवाड़े से किसान परेशान हैं। किसानों की करीब दस बीघे धान की फसल सिंचाई के अभाव में खराब हो रही है। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि ट्यूबेल कर्मचारी फर्जीवाड़े से बाज नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ धरना प्रदर्शन किया जायेगा।क्षेत्र के नदौली, सरकी, अकबरपुर आदि एक दर्जन गांवो की खेती राजकीय ट्यूबेल पम्पों पर निर्भर है। ट्यूबेलों की हालत यह है कि वे अक्सर खराब ही रहते हैं।उनकी देख-रेख के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों से जब उन्हें ठीक कराने को कहा जाता है तो पहले तो वे टाल-मटोल करते हैं।

जब दबाव बनाया जाता है तो वे बनवाने के नाम पर फर्जीगिरी करते हैं।नदौली गांव में स्थित एक ट्यूबेल पंप पर इस हफ्ते यही हुआ। पिछले बीस दिन से ट्यूबेल संख्या 165 की मोटर खराब थी। किसानों ने सिंचाई का हवाला देकर कर्मचारियों पर दबाव बनाया तो वे मोटर खोलकर ले गए और एक सप्ताह बाद लाकर लगा दिया। जब मोटर चलाई गई तो बीस मिनट भी नहीं चल सकी और पुनः खराब हो गई।

हालत यह है कि पानी के अभाव में करीब दस बीघे धान की खेती खराब हो रही है। नदौली गांव के दीप नारायण सिंह, चिंटू सिंह, जगन्नाथ सरोज, ठकुरी सरोज, मनबोध सिंह, संजय सिंह सहित एक दर्जन किसानों ने कहा कि यदि ट्यूबेल कर्मचारी फर्जीगिरी से बाज नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जायेगा। उन्होंने एसडीएम से ट्यूबेल ठीक कराने की मांग की है।
Previous articleजौनपुर : बहनों ने भाई की कलाई पर बांधा रक्षा सूत्र
Next articleजौनपुर : अनिल वर्मा बने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष की कमान मिली मयाशंकर को
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏