जौनपुर : तमिलनाडु में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में ईशान राम हुए सम्मानित

जौनपुर : तमिलनाडु में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में ईशान राम हुए सम्मानित

शाहगंज।
राजकुमार अश्क
तहलका 24×7
              जायसवाल क्लब, जायसवाल युवा क्लब एंव जायसवाल महिला क्लब का संयुक्त राष्ट्रीय अधिवेशन का दो दिवसीय भव्य आयोजन किया गया। राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन संयोजन महिला राष्ट्रीय अध्यक्षा एंव पीएमके पार्टी की राष्ट्रीय कोषाध्यक्षा तिलकभामा के गृह क्षेत्र सिवकासी तमिलनाडु में भव्यता के साथ किया गया। जहां भारत के लगभग सभी राज्यों के प्रांतीय व राष्ट्रीय पदाधिकारियों का समागम हुआ।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि अवधूत मंडल आश्रम हरिद्वार के महामंडलेश्वर परम पूज्य गुरुदेव १००८ स्वामी संतोषानंद देव जी महाराज, अति विशिष्ट अतिथि के रूप में कन्याकुमारी से पधारे महाराज जी, विशिष्ट अतिथियों के रूप में जायसवाल क्लब के संस्थापक राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज जायसवाल, युवा क्लब के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष जायसवाल राजन, महिला क्लब की राष्ट्रीय महासचिव सोनिया जायसवाल तथा अन्य अतिथियों के रूप में क्लब के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष गोपाल जी, निदेशक विजय प्रकाश, युवा क्लब के राष्ट्रीय महासचिव ज्ञानेश्वर जायसवाल उपस्थित रहे।

सभी प्रदेशों के अध्यक्षों तथा तीनों इकाई के राष्ट्रीय महासचिवों ने अपने कार्यों की समीक्षा, आगामी योजना को पूरे विस्तार से अपने भाषणों में बताया तथा समाज का सर्वांगीण विकास कैसे हो इस पर भी तमाम वक्ताओं ने अपने सुंदर सुझाव दिए। इस पर सबसे अच्छा सुझाव युवा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौरभ जायसवाल ने भगवान सहस्त्रबाहु जी का मंदिर जायसवाल युवा क्लब के नेतृत्व में बने। उनके इस आह्वान पर महाराज संतोषानंद जी ने १०० गज़ भूमि मंदिर निर्माण में देने को कहा, इस पर संतोष जायसवाल ने कहा कि मंदिर निर्माण की समस्त क्रिया प्रक्रिया जायसवाल युवा क्लब के निर्देशन में होगी और युवा क्लब अपने समस्त स्वजातीय बंधुओं के सहयोग से एक विशाल और भव्य भगवान सहस्त्रबाहु जी का मंदिर का निर्माण करेगी।

बंगाल महिला अध्यक्ष सुमन ने देश के कोने कोने मे कार्यरत समस्त जायसवाल व कलचुरि संगठनों को एक मंच जायसवाल क्लब से जोड़ने का और एक साथ चल कर समाज का विकास करने का शानदार आह्वान किया। मध्य प्रदेश से राष्ट्रीय युवा उपाध्यक्ष आरती ने एक कोर कमेटी बनाने का सुझाव दिया, जिससे भविष्य मे आने वाली तमाम समस्याओ का समाधान किया जा सके।

अभी अभी चिकित्सक बनी डॉ नताशा जायसवाल ने अपने प्रथम माह का वेतन जायसवाल युवा क्लब को समर्पित करने का प्रण किया। गाज़ियाबाद से युवा क्लब के राष्ट्रीय प्रबुद्ध उपाध्यक्ष व प्रखर राजनेता सौरभ जायसवाल ने कहा कि हमें अपने बच्चों को अपने यशस्वी पूर्वजों के विषय मे अधिकाधिक बताना चाहिए एवं उन्होंने यह भी सुझाया कि अपने समाज के बड़े-बड़े उद्योगपतियों को चाहिए कि वे सर्वप्राथमिकता से अपने समाज के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को रोज़गार देने का शानदार निवेदन किया।अपने ओजस्वी वक्तव्य से सभी को प्रेरित करने का काम उत्तर प्रदेश क्लब के प्रदेश अध्यक्ष नन्दलाल ने किया। अंतोगत्वा युवा क्लब के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष औरंगाबाद निवासी पंकज जायसवाल ने आंग्लभाषा में अद्भुत कार्यक्रम संयोजन हेतु महिला राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती तिलकभामा का व कार्यक्रम को सफल बनाने में लगे प्रत्येक बंधुओं का आभार ज्ञापन किया।

इस अवसर पर युवा क्लब के राष्ट्रीय उपाध्यक्षगण क्रमशः पंकज जी (महाराष्ट्र), आरती जी (मध्य प्रदेश), सौरभ जी (दिल्ली), राष्ट्रीय सचिव गण क्रमशः डॉ नताशा जी (गुजरात), हेमंत जी (मध्य प्रदेश), प्रदेश अध्यक्ष गण, क्रमशः विशाल जी (उत्तर प्रदेश) राणा जी (राजस्थान), सचिन जी (महाराष्ट्र), प्रदेश महासचिव गण विजय जी (उत्तर प्रदेश), वासु पोरवाल जी (मध्य प्रदेश), महिला क्लब की राष्ट्रीय महासचिव सोनिया जी (गुजरात), राजेश्वरी जी (चेन्नई, तमिलनाडु) आदि तमाम देश और प्रदेश के पदाधिकारीगण उपस्थित होकर उन्होंने कार्यक्रम की शोभा को कई गुना बढ़ाने का काम किया।

कार्यक्रम का सफल संचालन युवा क्लब के ईशान “राम” व क्लब के राजकुमार जी ने किया। तमाम प्रदेशों के पदाधिकारियों ने स्मृति चिन्ह व तमिलनाडु के विशेष अंगवस्रों से तथा युवा राष्ट्रीय महामंत्री ज्ञानेश्वर द्वारा लाए सबके इष्ट भगवान श्री रामलला का फ़ोटो फ़्रेम देकर सबको उनका आशीर्वाद दिलवाने का काम किया। उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष विशाल ने पुण्य पुस्तक श्रीराम चरित मानस देकर अतिथियों का मान और ज्ञान दोनों बढ़ाने का कार्य किया। मध्य प्रदेश राष्ट्रीय युवा उपाध्यक्षा आरती ने मोतियों की माला पहनाकर समस्त आगंतुकों का मान वर्धन करने का काम किया। राष्ट्रीय सचिव हेमंत जी ने मध्य प्रदेश की प्रसिद्ध देवी के चित्र को स्मृति चिन्ह स्वरूप अतिथियों को दिया और उनका मानवर्धन किया। पश्चिम बंगाल, गुजरात, राजस्थान, कर्नाटक, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड आदि सभी राज्यों ने अपने अपने यहाँ के प्रसिद्ध स्मृति चिन्हों व भेंटों को अतिथियों को देकर उनका व क्लब का सम्मान बढ़ाने का काम किया।
Feb 23, 2021

Previous articleजौनपुर : टीबी ग्रस्त मरीजों को पीयू के शिक्षकों ने लिया गोद
Next articleजौनपुर : प्रशिक्षण की उपयोगिता को सार्थक बनाएं शिक्षक
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏