जौनपुर : देव दीपावली! दीपों से जगमाता रहा नगर का समूचा मन्दिर

जौनपुर : देव दीपावली! दीपों से जगमाता रहा नगर का समूचा मन्दिर

# नगर में बड़े धूमधाम से मनाया गया देव दीपावली

# जय माँ विंध्यवासिनी दुर्गा पूजा महासमिति के तरफ से हर मंदिरों पर जलाया गया दीप

खेतासराय।
अज़ीम सिद्दीकी
तहलका 24×7
               देव दीपावली नाम से ही पता चलता है कि यह देवताओं की दिवाली हैं। यह कार्तिक पूर्णिमा का त्योहार है जो यूपी के काशी क्षेत्र में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। यह विश्व के सबसे प्राचीन शहर काशी की संस्कृति एवं परम्परा है। यह दीपावली के पंद्रह दिन बाद मनाया जाता है। जो अब यह प्रचलन धीर- धीरे अन्य जगहों बढ़ता जा रहा है।स्थानीय कस्बा खेतासराय में देव दीपावली बड़े धूम- धाम से मनाया गया। जिसमें प्रमुख रूप से कस्बा के पुरानी बाजार रोड स्थित जय माँ विंध्यवासिनी दुर्गापूजा महासमिति के सक्रिय सदस्यों द्वारा भव्य तरीके से मनाने के लिए एक सराहनीय पहल भी किया गया। जिसमें कस्बा के सभी मंदिरों पर दीप प्रज्ववलित करने के लिए उक्त पंडाल महासमिति द्वारा निःशुल्क दीया, बत्ती, तेल, माचिस आदि का वितरित किया गया। ताकि नगर में भव्य तरीके से मनाई जा सके।

जय माँ विंध्यवासिनी दुर्गा पूजा महासमिति के जिम्मेदार व सभासद मनीष कुमार गुप्ता ने बताया कि नगर में देव दीपावली मनाने के लिए हमने पहले से तैयारियां कर ली थी की इस बार नगर में भव्य तरीके से देव दीपावली मनाई जाएगी। इसके लिए हमने लोगों से बातचीत के लिए बैठक किया। जिसमें पंडाल समिति द्वारा निर्णय लिया गया की देव दीपावली के अवसर पर नगर के समूचे मंदिरों पर दीप जलाकर देव दीपावली मनाया जाएं।इसके लिए हमने नगर के लगभग 23 मंदिरों पर दीप जलाने के लिए दो- दो लोगो को चिन्हित कर प्रत्येक मंदिर के लिए 21- 21 दीया, तेल, बाती, माचिस देकर जलाने की जिम्मेदारी दे दी गई। जिससे शाम 6 बजे दीप जलाकर धूमधाम से देव दीपावली मनाई जा सके। इसके पश्चात खेतासराय – खुटहन मुख्य मार्ग पर स्थित प्राचीन दुर्गा मंदिर पर सभी लोग दीप जलाकर एकत्र होकर उक्त मंदिर प्रांगण में धूम-धाम से मनाया गया। इस दौरान मुख्य रूप से एसओ श्रीप्रकाश राय, अनूप गुप्ता, अमित मौर्या, आकाश सोनी, हरिओम बरनवाल, दुर्गेश, अनिल प्रजापति, गप्पू, रामू, राहुल बरनवाल, अतुल गुप्ता सहित आदि लोग उपस्थित रहे।
Previous articleजौनपुर : जिलाधिकारी व कप्तान ने सम्पूर्ण समाधान दिवस पर सुनी फरियाद
Next articleवो पांच कारण जिसके कारण पीछे हटने को मजबूर हुई केंद्र सरकार
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏