जौनपुर : द्वितीय चरण के आंदोलन के अंतिम दिन दिया ज्ञापन

जौनपुर : द्वितीय चरण के आंदोलन के अंतिम दिन दिया ज्ञापन

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               परिषदीय विद्यालय के शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं के समाधान हेतु सात सूत्रीय मांगों को लेकर बाइस अक्टूबर से चल रहे प्रदेश व्यापी आंदोलन के द्वितीय चरण के अंतिम दिन जनपदीय अध्यक्ष अमित सिंह के नेतृत्व में जनपदीय एंव ब्लाक पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री के नाम पुरानी पेंशन बहाली सहित सात सूत्रीय मांगों से सम्बंधित ज्ञापन विधान परिषद सदस्य बृजेश सिंह प्रिंसू को सौंपते हुए उनसे शिक्षकों की लंबित मांगों को माननीय मुख्यमंत्री के सामने उठाने और उनसे इस पर सहानुभूति पूर्वक समस्याओं के निस्तारण पर विचार कर करने का निवेदन किया।विधायक प्रिंसू ने कहा कि वो शिक्षकों की समस्याओं को लेकर हमेशा संवेदनशील रहते हैं। और जल्द ही मुख्यमंत्री से मिलकर इस पर विस्तृत चर्चा करूंगा। वहीं सांसद सीमा द्विवेदी ने कहा कि क्योंकि वो खुद भी शिक्षक हैं इसलिए शिक्षकों की समस्याओं से अच्छी तरह परिचित भी हूँ और उसके निस्तारण को लेकर गम्भीरता पूर्वक उचित मंच पर हमेशा उठाती रहती हूं।

इस अवसर पर जिला अध्यक्ष अमित सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ (सम्बद्ध अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ) ने पूरे प्रदेश में विगत चार अक्टूबर को पूरे प्रदेश में परिषदीय शिक्षकों की वर्षों लंबित प्रमुख सात सूत्रीय मांगों के संदर्भ में जिला प्रशासन के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा था। लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षकों की मांगों के प्रति गम्भीरता पूर्वक विचार न करने कारण संगठन आंदोलन के लिए बाध्य हुआ हैं, जिसके क्रम में बाइस अक्टूबर से चल रहे प्रदेश व्यापी द्वितीय चरण के आंदोलन का आज अंतिम दिन है। जिसके तहत सांसद सीमा द्विवेदी व विधायक प्रिंसू जी के माध्यम से मुख्यमंत्री को शिक्षकों की सात सूत्रीय मांगों के निस्तारण के संदर्भ ज्ञापन सौंपा जाएगा।

इस अवसर पर प्रांतीय संगठन मंत्री/जिलाध्यक्ष ने शिक्षकों वर्षों से लंबित प्रमुख मांगों पुरानी पेंशन बहाली, एक दिसंबर 2008 के बाद पदोन्नत प्राथमिक के प्रधानाध्यापक एवं जूनियर के सहायक हो 17140 एवं जूनियर के प्रधानाध्यापक को 18150 न्यूनतम वेतनमान दिया जाना, शिक्षकों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा मुहैया कराना, मृतक आश्रित परिवार वालों को योग्यता के अनुसार नियुक्ति, शिक्षा मित्र एवं अनुदेशक साथियों को शिक्षक पद पर समायोजन, अंतर्जनपदीय स्थानांतरण एवं जिले के अंदर स्थानांतरण प्रक्रिया को जल्दी प्रारंभ किया जाना, वेतन विसंगतियों को दूर किए जाने आदि पर सांसद एंव विधायक से विस्तृत चर्चा की।जिलामंत्री सतीश पाठक ने बताया कि बाइस अक्टूबर से आंदोलन के द्वितीय चरण के प्रारंभ से आज सत्ताईस अक्टूबर के अंतिम दिन ज्ञापन कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए समस्त पदाधिकारियों एंव संघनिष्ठ साथियों का हार्दिक आभार प्रकट किया। इस जनपदीय संगठन मंत्री अश्वनी कुमार सिंह संयुक्त मंत्री शैलेंद्र सिंह, जिला उपाध्यक्ष अतुल प्रताप सिंह , संगठन मंत्री संतोष सिंह बघेल,मड़ियाहूं अध्यक्ष विशाल सिंह, साकेत सिंह आदि उपस्थित रहे।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : 100 करोड़ के सफल वैक्सीनेशन के लिए भाजपा जौनपुर ने प्रधानमंत्री मोदी को दी बधाई
Next articleजौनपुर : अतुल्य वेल्फेयर ट्रस्ट के स्थापना दिवस पर वृद्धों को कराया गया भोजन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏