जौनपुर : नदी में नहीं, बल्कि चिन्हित स्थलों पर होगा मूर्ति विसर्जन

जौनपुर : नदी में नहीं, बल्कि चिन्हित स्थलों पर होगा मूर्ति विसर्जन

खुटहन।
मुलायम सोनी
तहलका 24×7
               पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी विभिन्न पंडालों में प्राण प्रतिष्ठित की गई देवी दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन नदी की बहती धारा में नहीं हो सकेगा। इसके लिए प्रशासन ने विसर्जन स्थल को चिन्हित करने की कवायद शुरू कर दिया है।
तहसीलदार अभिषेक कुमार राय व क्षेत्राधिकारी अंकित कुमार ने मंगलवार को क्षेत्र में भ्रमण कर अलग-अलग गांवों में सात स्थलों को मूर्ति विसर्जन के लिए चिन्हित किया। जिसमें पिलकिछा गोमती नदी और सेंवई नाले के संगम स्थल के बगल, बनुआडीह गांव का तालाब, गोसाईपुर तालाब, लोनियापट्टी, तिसौली, मरहट, अशरफगढ़ गांव के तालाबों को विसर्जन स्थल चिन्हित किया गया है।
क्षेत्राधिकरी ने कहा कि चयनित स्थलों के अलावा यदि कहीं विसर्जन नदी में किए जाने की जानकारी हुई तो जिम्मेदारों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जायेगी। मौके पर प्रभारी निरीक्षक इंस्पेक्टर संतोष शुक्ला भी मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : कालरात्रि के दिन माँ दक्षिणा काली का हुआ भव्य श्रृंगार
Next articleरामजी यादव…
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏