जौनपुर : नपा ने छुट्टा पशुओं की गिनती तो कर ली पर गोशाला में रखना भूल गए जिम्मेदार

जौनपुर : नपा ने छुट्टा पशुओं की गिनती तो कर ली पर गोशाला में रखना भूल गए जिम्मेदार

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              शहर को छुट्टा पशुओं से मुक्त करने के लिए नगर पालिका परिषद ने पिछले दिनों अभियान चलाकर इनकी गिनती तो कर ली, लेकिन इनको पकड़कर गोशाला में रखना भूल गए हैं। इन छुट्टा पशुओं के शहर में इधर-उधर टहलने से लोगों को दिक्कतें हो रही हैं। छुट्टा पशु ठेले से सब्जी व फल आदि उठाकर भी खा जाते हैं। इनसे टकरा कर अक्सर लोग गिरकर घायल हो जाते हैं। लोगों की इन समस्याओं के प्रति जिम्मेदार गंभीर नहीं दिख रहे हैं। सब कुछ जानकार चुप्पी साधे हुए हैं।

सवा तीन लाख की आबादी वाले शहर में छुट्टा पशुओं का आतंक है। चाहे दिन हो अथवा रात, हर समय ये पशु शहर में देखे जा सकते हैं। शहर के पटरी व रेहड़ी दुकानों व ठेले पर से सामान उठाकर खा जाते हैं। छुट्टा पशु ठेले को भी पलट देते हैं। इससे दुकानदारों के सामानों की क्षति हो जाती है। सबसे अधिक दिक्कत भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर होती है। इन स्थानों पर पशु टहलते रहते हैं, जिससे टकरा लोग अक्सर लोग गिरकर घायल हो जाते हैं। हालांकि नगर पालिका की ओर से तीन दिन पहले अभियान चलाकर छुट्टा पशुओं की गिनती कराई गई। इस दौरान कुल 555 छुट्टा पशु टहलते हुए पाए गए, लेकिन अभी तक उनको गोशाला में रखने की समुचित व्यवस्था नहीं की जा सकी है।
वे अभी भी शहर में इधर-उधर टहलते देखे जा सकते हैं। नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी संतोष कुमार मिश्रा का कहना है कि तीन दिन पहले अभियान चलाकर शहर में इधर-उधर टहलने वाले छुट्टा पशुओं की गिनती कराई गई। इस दौरान 555 छुट्टा पशु घुमते हुए मिले। इन पशुओं को रखने के लिए पशुपालन विभाग को पत्र भेजा गया है। विभाग से ऐसे गोशाला की सूची मांगी गई है, जिसमें इन पशुओं को रखा जा सके। गोशाला की सूची पशुपालन विभाग की ओर से मिलते ही पशुओं को पकड़कर वहां रखवाने की व्यवस्था की जाएगी।
Previous articleआजमगढ़ : युवक ने रची सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश, गिरफ्तार
Next articleजौनपुर : मंडी समिति में जल्द शुरू होगी विद्युत आपूर्ति
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏