जौनपुर : पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की हत्या पर कायस्थ महासभा ने किया सीबीआई जांच की मांग

जौनपुर : पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की हत्या पर कायस्थ महासभा ने किया सीबीआई जांच की मांग

# मृतक आत्मा की शांति के लिये रखा मौन, पत्नी को नौकरी व परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              अखिल भारतीय कायस्थ महासभा जौनपुर की एक आवश्यक बैठक चित्रगुप्त मंदिर रूहटा में सम्पन्न हुई। बैठक में प्रतापगढ़ के युवा पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की शराब माफियाओं द्वारा की गई निर्मम हत्या की जांच के लिए कायस्थ महासभा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा को सौंपा।ज्ञापन के मुताबिक पत्रकार स्व सुलभ श्रीवास्तव व पार्थ श्रीवास्तव की मौत की जांच सीबीआई से कराने, साथ ही पत्नी को सरकारी नौकरी व परिजनों को एक करोड़ रुपये आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग किया है।

विदित हो कि दिवगंत पत्रकार स्व सुलभ श्रीवास्तव गत 13 जून को रात्रि लगभग 11 बजे लालगंज कोतवाली के असरही गांव में पकड़ी गयी अवैध असलहा फैक्ट्री की रिपोर्टिंग करके लौट रहे थे कि प्रतापगढ़ के सुखपाल नगर से कटरा चौराहे के बीच वाराणसी लखनऊ हाईवे पे मृत पाए गए। सुलभ जो कि बहादुरी की एक बहुत बड़ी मिसाल थे। कुछ दिनों पहले प्रतापगढ़ जिले में पकड़े गए अवैध शराब की कवरेज सुलभ के द्वारा की गई थी। जिसके बाद उस मामले की खबर की गूंज हर जगह पहुंच गयी थी, जिसको लेकर अज्ञात शराब माफिया सुलभ से नाराज भी चल रहे थे। इसका जिक्र उन्होंने अपने द्वारा 12 जून को प्रतापगढ़ पुलिस अधीक्षक को सौपी रिपोर्ट में किया था।

लेकिन 13 जून की रात्रि को ही उनके साथ यह घटना घटित हो गयी और पत्रकारिता का एक मजबूत स्तंभ ढह गया। सुलभ बहुत ही बहादुर कलम के सिपाही थे। जो सच के लिए लड़ते लड़ते शहीद हो गए। आज जब देश को ऐसे कलम के सिपाहियों की अत्यधिक जरूरत है तो ऐसे में पत्रकारिता के उभरते सूर्य को हमेशा के लिए अस्त कर देना समाज के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। सुलभ श्रीवास्तव व पार्थ श्रीवास्तव मौत की सीबीआई जांच कराकर दोषियों को सजा दिलाया जाए। साथ ही हम सरकार से यह मांग भी करते हैं कि सुलभ श्रीवास्तव के हत्यारों को जल्द पकड़ के कड़ी से कड़ी सजा दी जाए और सुलभ श्रीवास्तव व पार्थ श्रीवास्तव के परिवार को अर्थिक सहायता के साथ उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी भी दी जाए।

अंत में सुलभ श्रीवास्तव व पार्थ श्रीवास्तव के लिए दो मिनट का मौन धारण कर मृतक के आत्मा के शांति के लिए प्रार्थना की गई। बैठक में नीलमणि श्रीवास्तव जिलाध्यक्ष, प्रदीप अस्थाना, राकेश श्रीवास्तव साधु, श्रीकांत श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, ई अमित श्रीवास्तव, अखिलेश श्रीवास्तव, डॉ नीलेश श्रीवास्तव, शशि श्रीवास्तव, प्रशांत पंकज श्रीवास्तव, दीपक श्रीवास्तव, अंकित श्रीवास्तव, पंकज श्रीवास्तव, हैप्पी श्रीवास्तव, सुलभ श्रीवास्तव, अमित श्रीवास्तव, प्रदीप श्रीवास्तव, अनुराग सिन्हा, सिम्पू श्रीवास्तव, रवि श्रीवास्तव, अनीश श्रीवास्तव, राज श्रीवास्तव, सुरेश जी श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, बृजेश श्रीवास्तव, राहुल श्रीवास्तव, अर्पित आनंद श्रीवास्तव, अतुल श्रीवास्तव, हरीश चंद्र श्रीवास्तव, अंजना श्रीवास्तव, प्रतिमा श्रीवास्तव, प्रियंका श्रीवास्तव एवं समस्त पदाधिकारी अखिल भारतीय कायस्थ महासभा जौनपुर के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : फेक न्यूज़ के दुष्चक्र में फंसा है भारत- प्रो. मुकुल श्रीवास्तव
Next articleजौनपुर : कांग्रेस के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने वृद्धाश्रम में वितरित किया दवाईयां एवं खाद्य सामग्री
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏