जौनपुर : पीयू से संबद्ध 283 कॉलेजों के बीएससी अंतिम वर्ष का रिजल्ट घोषित

जौनपुर : पीयू से संबद्ध 283 कॉलेजों के बीएससी अंतिम वर्ष का रिजल्ट घोषित

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
              वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संबद्ध 283 महाविद्यालयों के बीएससी अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम बृहस्पतिवार को घोषित कर दिया गया। यह जानकारी परीक्षा परिणाम घोषणा समिति के समन्वयक डॉ. मनीष कुमार गुप्ता ने दी। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संबद्ध 283 महाविद्यालयों के बीएससी तृतीय वर्ष का परिणाम घोषित कर दिया गया है।

रिजल्ट विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है। अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर परीक्षा परिणाम को देख सकते हैं। परीक्षा नियंत्रक बीएन सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय जिन विषयों का मूल्यांकन हो चुका है, जल्द से जल्द उनके परिणाम घोषित करने में लगा हुआ है ताकि विद्यार्थियों को किसी अन्य जगह प्रवेश या प्रतियोगी परीक्षा में बैठने में कोई कठिनाई न हो। 

कैट प्रवेश परीक्षा के लिए जीडी एवं पर्सनल इंटरव्यू 
पूर्वांचल विश्वविद्यालय के व्यवसाय प्रबंधन विभाग में एमबीए पाठ्यक्रमों के प्रवेश के लिए बृहस्पतिवार को ग्रुप डिस्कशन एवं पर्सनल इंटरव्यू का आयोजन किया गया।  व्यवसाय प्रबंधन के विभाग अध्यक्ष डॉ. मुराद अली ने कहा कि प्रबंधन छात्रों में बौद्धिक योग्यता के अलावा निर्णयन, विश्लेषणात्मक क्षमता, समूह प्रबंधन आदि गुणों का होना जरुरी है। ग्रुप डिस्कशन एवं पर्सनल इंटरव्यू  ये सभी गुणों का आंकलन करने में निर्णायक होता है। व्यवसाय प्रबंधन विभाग में एमबीए, एमबीए(एग्री बिजनेस) एवं एमबीए (ई-कॉमर्स ) पाठ्यक्रमों का संचालित किया जाता है।

# पूर्वांचल विश्वविद्यालय : रोजगार केंद्र के रूप में विकसित होगा महिला अध्ययन केंद्र

पूर्वांचल विश्वविद्यालय का महिला अध्ययन केंद्र छात्राओं के लिए वरदान साबित होगा। केंद्र की स्थापना से विश्वविद्यालय को नया आयाम मिलेगा। पीजी डिप्लोमा इन जेंडर एंड विमेन स्टडीज (दो सेमेस्टर) तथा दो वर्षीय (चार सेमेस्टर) पीजी डिग्री कोर्स इन विमेन स्टडीज चालू सत्र से प्रारंभ हो गया है। रोजगार को बढावा देने के लिए पाठ्यक्रम में प्रोजेक्ट एवं लघु अनुसंधान के साथ फील्ड सर्वे, प्रश्नावली सर्वे भी शामिल किया गया है।

रोजगार को बढ़ावा देने के लिए महिला अध्ययन केंद्र में कंप्यूटर प्रशिक्षण, ब्यूटी पार्लर, जैम, सॉस बनाना एवं पैकेजिंग, ज्वेलरी बनाना, हस्त निर्मित चूड़ियां, इत्र, अगरबत्ती, पापड़, अचार आदि बनाना तथा पैकेजिंग आदि का भी सर्टिफिकेट कोर्स कराया जाएगा। कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य का कहना है कि महिला केंद्र को रोजगार केंद्र के रूप में विकसित करने की तैयारी है ताकि छात्र-छात्राएं शिक्षा के साथ रोजगार भी हासिल कर सकें। 
Previous articleआजमगढ़ : पहले लकड़ी जलाने से निकलते थे आंसू, अब सिलेंडर खरीद पर निकल रहे- कंछल
Next article11 वर्ष पूर्व गर्भवती बहू और पोती की नृशंस हत्या के मामले में सास समेत दो को मृत्युदंड
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏