जौनपुर : पुरानी पेंशन की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट में गरजे शिक्षक व कर्मचारी

जौनपुर : पुरानी पेंशन की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट में गरजे शिक्षक व कर्मचारी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 संयुक्त संघर्ष संचालन समिति उप्र (एस-4) के प्रान्तीय नेतृत्व के आह्वान पर पुरानी पेंशन सहित 16 सूत्रीय मांगों के समर्थन में पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष क्रांति सिंह के नेतृत्व में पैदल मार्च कर जिलाधिकारी जौनपुर को माननीय मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया।पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष क्रांति सिंह ने कहा कि आई0सी0डी0एस0 की मुख्य सेविकाओं तथा लिपिको आदि संविदा कर्मियों/दैनिक वेतन/ नियत वेतन/संहत वेतन/मानदेय आदि के रूप में विभिन्न विभागों में कार्यरत- होमगार्डस, पीआरडी जवान, ग्राम रोजगार सेवक व अन्य मनरेगा कर्मियों, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सहायिका, आशा बहुओं, ए0एन0एम0, रसोईया, आश्रम पद्धति एवं कस्तूरबा गाॅधी विद्यालयों के शिक्षकों/कर्मी, विशेष शिक्षकों तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मियों को विनियमित किया जाए।

इस दौरान उत्तर प्रदेश कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष अजय सिंह ने बताया कि धरने में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ, राज्य कर्मचारी महासंघ, आंगनबाड़ी संघ, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन, यूपी रोडवेज इम्पलाईज यूनियन, ग्राम रोजगार सेवक संघ, विद्यालय निरीक्षक संघ सहित 34 कर्मचारी संगठनों द्वारा प्रतिभाग किया गया। ज्ञापन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष/ प्रांतीय संगठन मंत्री अमित सिंह ने कहा कि पुरानी पेंशन हमारा अधिकार है और इसे हम ले कर ही रहेंगे। यदि यह सरकार हमारी माँगो को गंभीरता से लेकर निस्तारित नहीं करती है तो आगामी चुनाव में वर्तमान सरकार का विरोध कर उसको हटाने का कार्य किया जाएगा।ग्राम्य विकास विभाग कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुजीत सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा समाप्त किये गये भत्तों जैसे सी0सी0ए0, सचिवालय भत्ता, परिवार नियोजन संबंधी विशेष वेतन-वृद्धि आदि को बहाल किया जाये।

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलामंत्री सतीश पाठक ने कहा कि छठे वेतनमान की समस्त वेतन विसंगतियों को दूर करते हुए शिक्षको को पदोन्नति का न्यूनतम् वेतनमान 17140/ तथा 18150/ दिया जाये।ज्ञापन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर संघ के प्रान्तीय अध्यक्ष चंद्र प्रकाश सिंह ने कहा कि बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में नियुक्त चतुर्थ श्रेणी/मृतक आश्रित कर्मियों की नियुक्ति शैक्षिक योग्यता के आधार पर हो तथा कार्मिक नियमावली का उल्लंघन कर पूर्व में उच्च शैक्षिक योग्यता धारक अभ्यर्थी जो चतुर्थ श्रेणी के पद पर नियुक्त कर दिये गये हैं उन कार्मिकों को उनकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर लिपिक पद पर समायोजित किया जाये। इसी क्रम में पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलामंत्री मनीष सोमवंशी ने कहा कि सरकार वर्षो से लम्बित कैशलेस चिकित्सा व्यवस्था कर्मचारियों व शिक्षको पर शीध्र लागू की जाए।

धरने का संचालन जिला संगठन मंत्री/ संयोजक अश्वनी सिंह ने किया। इस मौके पर संजय चौधरी, शिवकुमार, प्राथमिक शिक्षक संघ के संयुक्त मंत्री शैलेंद्र सिंह, मृत्युंजय सिंह, विशाल सिंह, प्रदीप सिंह बघेल, अतुल सिंह, संतोष उपाध्याय, मुकेश सिंह, उमेश यादव, मुन्ना यादव, स्वतंत्र कुमार, रामाश्रय यादव, सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष संजय चौधरी, मंत्री शिव कुमार, हीरालाल भारती, सुनील दत्त, रीना सिंह, अंजू गौतम, सुनीता मौर्य, शर्मिला गुप्ता, प्रदीप सूर्या, दिनेश उपाध्याय, अरविंद सिंह, जितेंद्र, मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के रामाश्रय यादव, अशोक गौतम, अजय सिंह, प्रेम शंकर पांडे आदि लोग सम्मिलित हुए।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : रक्षामंत्री एंव मुख्यमंत्री के जनपद आगमन पर 27 को रहेगा रूट डायवर्जन
Next articleजौनपुर : शाम को घर से निकले थे खाना बनाने, सुबह मिली लाश
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏