जौनपुर : पूर्व सांसद धनंजय सिंह का दबदबा कायम, श्रीकला सिंह रेड्डी चुनी गईं जिपं अध्यक्ष

जौनपुर : पूर्व सांसद धनंजय सिंह का दबदबा कायम, श्रीकला सिंह रेड्डी चुनी गईं जिपं अध्यक्ष

# श्रीकला ने 43 मत पाकर लहराया परचम, भाजपा से बागी नीलम ने पाया 28 मत, सपा 12 मतों पर सिमटी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 जनपद में जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर निर्दल प्रत्याशी श्रीकला सिंह रेड्डी पत्नी पूर्व सांसद धनन्जय सिंह अपनी जीत दर्ज कराते हुए जनपद की प्रथम नागरिक बन गयी है। इसकी अधिकारिक घोषणा करते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने प्रमाणपत्र दे दिया है।
गौरतलब है कि सपा ने अपना अधिकृत प्रत्याशी निशी यादव को चुनाव मैदान में उतारा था। दूसरी ओर एनडीए गठबन्धन से रीता पटेल प्रत्याशी थी। भाजपा से टिकट न मिलने पर नीलम सिंह निर्दल चुनाव मैदान में आ गयी थी। विजयी प्रत्याशी श्रीकला सिंह रेड्डी अपना दल एस से टिकट चाहती थी लेकिन भाजपा राष्ट्रीय नेतृत्व के दबाव में टिकट न मिलने पर निर्दल चुनाव मैदान आयी थी। भाजपा अपना दल के बीच तमाम उठा पटक के बीच आज मतदान के दिन अपना दल ने अपना समर्थन निर्दल प्रत्याशी श्रीकला सिंह रेड्डी को 06 वोटो के साथ दे दिया जिसके परिणाम स्वरूप श्रीकला सिंह रेड्डी ने कुल 83 मतों में से 43 वोट हासिल कर प्रथम चक्र की गणना में जीत का परचम लहराते हुए जिले का प्रथम नागरिक बन गयी है।
बतातें चलें कि भाजपा की पूरी पार्टी गठबन्धन दल के साथ जाने के बजाय बागी प्रत्याशी नीलम सिंह के साथ लगे हुए थे लेकिन अपना दल एस ने भी अन्तिम समय में अपना असली पत्ता खोला और अपने राष्ट्रीय नेतृत्व के इशारे पर श्रीकला सिंह रेड्डी पत्नी धनन्जय सिंह को वोट कर दिया और एक नया इतिहास रच दिया। भाजपा की बागी प्रत्याशी नीलम सिंह जिसके साथ भाजपा लगी हुई थी 28 मत पाकर दूसरे स्थान पर रह गयी थी सबसे खतरनाक स्थिति सपा की रही। जिला पंचायत सदस्य के रूप में समाजवादी विचार धारा के 42 सदस्यों को जीतने का दावा किया जा रहा था और सपा नेतृत्व के समक्ष 44 सदस्यों की परेड भी करायी गयी लेकिन मतदान के पश्चात गणना के बाद पता चला कि सपा प्रत्याशी निशी यादव को महज 12 वोट मिला है।
इस तरह यदि कहा जाये कि सपा में सर्वाधिक भितरघात का खेल किया गया तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। इस पार्टी के दो विधायक लगातार श्रीकला सिंह रेड्डी के पति पूर्व सांसद धनन्जय सिंह के सम्पर्क में रहे और अपने नेतृत्व को भी धोखे में रख दिया जिसका परिणाम रहा कि अधिक संख्या बल होने के बाद भी सपा मात्र 12 वोट पर सिमट कर रह गयी। जो भी हो श्रीकला सिंह रेड्डी को जिले का प्रथम नागरिक बनने के साथ ही एक बार फिर से पूर्व सांसद धनन्जय सिंह जौनपुर की सियासत में अपनी मजबूत पकड़ के साथ स्थापित हो गये है।
Previous articleजौनपुर : आवासीय योजना का पैसा पास कराने के नाम पर गरीबों का शोषण
Next articleजौनपुर : तेज रफ्तार कार ने मारी टक्कर, पांच घायल और एक गंभीर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏