जौनपुर : प्रधानाचार्य के साथ-साथ तहलका 24×7 के संवादसूत्र हुए सम्मानित

जौनपुर : प्रधानाचार्य के साथ-साथ तहलका 24×7 के संवादसूत्र हुए सम्मानित

शाहगंज।
राजकुमार अश्क
तहलका 24×7
                   उत्तर प्रदेश सरकार के शासनादेश के अनुसार पुरातन छात्रों को सम्मानित करने के क्रम में शनिवार लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित अभिनव प्राथमिक विद्यालय में एक समारोह में इसी विद्यालय में अध्ययन किये नगर पालिका प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य जयसिंह यादव, तहलका 24×7 न्यूज़ के संवादसूत्र राजकुमार अश्क, दीलिप कुमार, राजकुमार गुप्ता, महेंद्र कुमार यादव, ओम् प्रकाश यादव, मो नईम को सम्मानित किया गया।


इस विद्यालय में अपने बीते दिनों को याद करते हुए जयसिंह यादव ने उपस्थित लोगों को बताया कि इस विद्यालय में जब हम लोग पढ़ते थे तो इतनी सुविधाएं नहीं थीं अपने पुराने अध्यापकों को याद करते हुए उन्होंने बताया कि हम लोग अपने अध्यापकों को सरजी या मास्टर साहब नहीं कहते थे बल्कि उनकों मुंशी जी, मौलवी साहब आदि कह कर सम्बोधित करते थे।वहीं दीलिप कुमार ने भी अपने खट्टे मीठे पलों को याद करते हुए अपने अनुभव लोगों से साझा किया।

मो. नईम जो एक रेलवे से सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं उन्होंने बताया कि जब हम लोग पढ़ते थे तो हम लोग विद्यालय की खाली पड़ी जमीन में क्यारी बना कर उसमें साग सब्जी फूल पौधे लगाते थे और उसकी देखरेख का भार भी हम लोगो की ही जिम्मेदारी होतीं थी। ओम प्रकाश यादव जो कि इसी विद्यालय में शिक्षा मित्र के पद पर कार्यरत हैं उन्होंने भी अपने अनुभव लोगों से साझा किया। महेंद्र कुमार यादव ने अपने बीते दिनों को याद करते हुए अपने अध्यापकों को याद किया कि वे लोग कितने प्यार से बच्चों को पढ़ाते थे। राजकुमार गुप्ता ने भी अपने अध्यापकों को नमन करते हुए उनको धन्यवाद प्रेषित किया जिनकी दी शिक्षा के बल पर कि आज वे इस काबिल हैं कि वे जिस विद्यालय में अध्ययन किये उसी विद्यालय में सम्मानित हो रहें है।

वहीं तहलका 24×7 न्यूज़ के संवादसूत्र राजकुमार अश्क ने अपने समय के अध्यापक श्री बाबूराम सिंह, श्री हरिज्ञान सिंह, श्री राममूर्ति सिंह, श्री गुप्ता जी एवं ज्ञानेंद्री बहन जी को याद करते हुए को सबका आभार व्यक्त किया और कहा कि अध्यापक वह कुम्हार होता है जो अपने छात्रों को ऊपर से तो चोट मारता है मगर अन्दर से हाथों का सहारा भी दिए रहता है कि कहीं इस कच्चे घड़े का आकार बिगड़ न जाए। कार्यक्रम का संचालन योगेन्द्र कुमार यादव ने किया, उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि आज मुझे इतनी खुशी हो रही है कि मैं उसे शब्दों में बयां नही कर सकता क्यों कि आज मुझे ऐसे लोगों के अनुभव सुनने को मिला है जो विपरीत परिस्थितियों में होतें हुए भी समाज में अपने नाम के साथ साथ इस विद्यालय का नाम भी रौशन कर रहे हैं। इस अवसर पर विद्यालय की अध्यापिका प्रीति अग्रहरि, सीमा वर्मा, प्रिया पान्डेय एवं पारूल पान्डेय आदि उपस्थित रहीं।
Feb 20, 2021

Previous articleजौनपुर : कांग्रेसियों ने पीड़ित परिवार के घर पहुंच कर व्यक्त की संवेदना
Next articleजौनपुर : पांच दिवसीय रेंजर्स प्रशिक्षण शिविर का हुआ भव्य समापन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏