जौनपुर : बगैर नियुक्ति के सरकारी अस्पताल में इलाज कर रही महिला चिकित्सक

जौनपुर : बगैर नियुक्ति के सरकारी अस्पताल में इलाज कर रही महिला चिकित्सक

# सीएचसी के अधीक्षक ने चिकित्सक पत्नी के लिए सीएमओ से मांगी है अनुमति

शाहगंज।
रवि शंकर वर्मा
तहलका 24×7
                    स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अनाधिकृत रूप से चेंबर में बैठकर एक महिला चिकित्सक द्वारा उपचार किए जाने का मामला चर्चा में आया। डॉक्टर को प्रैक्टिस किए जाने के किसी तरह की अनुमति दिए जाने से मुख्य चिकित्साधिकारी ने इंकार किया है।
स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के एक कमरे में डॉक्टर मारिया फारुकी बैठकर आने वाली महिला मरीजों का उपचार कर रही हैं। इस बात की चर्चा आम हुई तो उनके सरकारी अस्पताल में बगैर नियुक्ति के प्रैक्टिस कर रही चिकित्सक मारिया फारूकी ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा चिकित्सा सेवा देने की अनुमति दी गई है। अस्पताल के अधीक्षक डॉ रफीक फारूखी जो कि डॉक्टर मरिया फारूकी के पति हैं उनसे बात की गई।
डॉक्टर फारूकी ने कहा कि डॉक्टर मारिया निःशुल्क मरीजों का उपचार कर रही हैं। उनके इस सेवा कार्य की अनुमति के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र भेजा गया है। जहां से मौखिक अनुमति भी मिली है। उधर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राकेश कुमार ने अस्पताल के चेंबर मे बैठकर डॉक्टर मारिया फारूकी द्वारा मरीजों के उपचार के किए जाने के बाबत पूछे जाने पर अनुमति दिए जाने की बात से इनकार करते हुए कहा कि एक पत्र आया है लेकिन अनुमति नहीं दी गई है।
मामले में चिकित्साधीक्षक डा. रफीक फारुकी कहते हैं कि चिकित्सक ने महामारी के समय मरीजों की काफी सेवा की थी। निःशुल्क और बिना स्वार्थ के सेवा करने पर मुख्य चिकित्साधिकारी समेत उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर अनुमति मांगी गई है। उन्होंने चैम्बर मे बैठने की तस्वीर को कोविड के समय की बताया।
Previous articleजौनपुर : ग्रामीणों ने मछली चोर की पिटाई कर सौंपा पुलिस को
Next articleजौनपुर : पति की धोखेबाजी और बेवफाई ने पत्नी को किया दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏