जौनपुर : बारिश से कच्चा मकान ढहा, चार की दर्दनाक मौत, दो गम्भीर रूप से घायल

जौनपुर : बारिश से कच्चा मकान ढहा, चार की दर्दनाक मौत, दो गम्भीर रूप से घायल

# मंगलवार से हो रही बारिश ने ढहाया कहर, जन-जीवन अस्त-व्यस्त

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                    जनपद में मंगलवार से हो रही बारिश ने अपना कहर ढहाना शुरू कर दिया है ग्रामीण इलाकों में बने कच्चे मकान गिरने का सिलसिला जारी है। कच्ची दीवार ढहने से बुधवार की देर रात जहां चार लोगों की मौत हो गई तो वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं जिनका इलाज स्थानीय चिकित्सालय में चल रहा है।
सुजानगंज थाना क्षेत्र के सराय खानी गांव में बुधवार की रात कच्चा मकान ढह गया जिससे तीन की दर्दनाक मौत हो गई जबकि दो गम्भीर रूप से घायल हो गए है। सभी पांचों एक ही परिवार के है।सरायखानी निवासी भरतलाल जायसवाल पुत्र उदय राज जायसवाल 38वर्ष अपनी पत्नी गुलाबो देवी 34वर्ष और अपनी पुत्री साक्षी 10 वर्ष के साथ अपने मकान में सो रहे थे जबकि बगल में ही उनकी भाभी रेखा देवी 40 वर्ष और उनकी भांजी काजल 18 वर्ष सो रही थी। गुरुवार सुबह तकरीबन 4 बजे इनका कच्चा मकान धराशायी होकर गिर गया। तुरंत दूसरे कमरे में सो रहे इनके अन्य परिजन दौड़कर आए और उनको बाहर निकालकर इसकी सूचना थाने को दी और एंबुलेंस की सहायता से सामुदायिक स्वास्थ केंद्र सुजानगंज लाया गया जहां चिकित्सकों ने भरतलाल, गुलाबो देवी और साक्षी को मृत घोषित कर दिया जबकि दूसरे कमरे में लेटे हुए रेखा देवी 40 और काजल 18 वर्ष गम्भीर रूप से घायल हो गए जिनको जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।
भरत लाल जायसवाल इस समय घर पर ही रहते थे। इसके पहले वह मुंबई रहता था। साक्षी कक्षा तीन की छात्रा थी। थानाध्यक्ष पवन कुमार उपाध्याय ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है वहीं मृतक भरत लाल की माता सवारी देवी का रो रो कर बुरा हाल है। अभी कल ही वह अपने मायके गई थी और अंतिम बार अपने पुत्र से मिल भी न सकी। मृतक तीन भाई है।
वहीं दूसरी तरफ सिकरारा थाना क्षेत्र के सकल देल्हा गांव की यादव बस्ती में बुधवार को रात 1 बजे के करीब लगातार बरसात से कच्चे मकान की दीवाल बगल रखे छप्पर पर गिरी। छप्पर में सो रही उर्मिला देवी उम्र 47 वर्ष की दीवाल से दबकर मौत हो गयी। आनन-फानन में परिजन लेकर चिकित्सक के पास ले गए जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मौत की जानकारी मिलते ही घर मे कोहराम मच गया। मृत महिला उर्मिला छप्पर में अकेले ही सो रही थी। उसके पति रोजो-रोटी के सिलसिले में बाहर रहते है। घर पर वही मालिक के रूप में थी।मृतका के पांच बच्चे है। जिनका रो रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना पर पहुँची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। पत्नी की मौत की सूचना मिलते ही पति मुंबई से घर आने के लिये निकल चुके हैं।
Previous articleछात्रा की संदिग्ध मौत के मामले में हाईकोर्ट में डीजीपी नहीं दे सके सही जवाब, डीजीपी को फटकार
Next articleजौनपुर : अतिवृष्टि से पीड़ित परिजनों को प्रशासन ने दी सांत्वना
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏