जौनपुर : भागवत कथा के श्रवण मात्र से कट जाते हैं पाप- पं. प्रमोद त्रिवेदी

जौनपुर : भागवत कथा के श्रवण मात्र से कट जाते हैं पाप- पं. प्रमोद त्रिवेदी

# सात दिवसीय श्रीमद् भागवत महापुराण यज्ञ प्रारम्भ

जलालपुर।
प्रियंका श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                 श्रीमद् भागवत ऐसी अमृत कथा है जिसके श्रवण मात्र से मनुष्य का पाप कट जाते हैं और उसका हृदय निर्मल हो जाता है। धुंधकारी नामक एक पिशाच ने अपने जीवन में बहुत ही क्रूर कर्म व पाप किए थे। इस कारण वह प्रेत योनि में भटक रहा था। धुंधकारी भी प्रतिदिन श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण कर रहा था। कथा सुनने के कारण उसके पाप कट गए और उसको मुक्ति मिल गई। उसने फिर से मनुष्य जीवन प्राप्त कर लिया उक्त बातें बुद्धवार को तालामझंवारा गांव में पं. रुद्रप्रसाद पांडेय के आवास पर क्षेत्र कल्याण के लिए शुरू हुए सात दिवसीय श्रीमद् भागवत महापुराण साप्ताहिक ज्ञान महायज्ञ के कथा श्रवण करवाने के दौरान वाराणसी से पधारे आचार्य पंडित कथा व्यास प्रमोद त्रिवेदी महाराज ने कही।
भागवत महातम के प्रत्येक श्लोक में श्रीकृष्ण-प्रेम की सुगन्ध है। इसमें साधन-ज्ञान, सिद्धज्ञान, साधन-भक्ति, सिद्धा-भक्ति, मर्यादा-मार्ग, अनुग्रह-मार्ग, द्वैत, अद्वैत समन्वय के साथ प्रेरणादायी विविध उपाख्यानों का अद्भुत संग्रह है। कथा आरम्भ के पूर्व मुख्य यजमान प्रतिनिधि के रूप में विजय कृष्ण पांडेय द्वारा ब्यास पीठ का पूजन व आचार्य का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। इस मौके पर आचार्य कमलाकांत मिश्रा, आचार्य गोपाल शुक्ल, गायक विनोद दुबे, तबला वादक निखिल, संतोष, बृज नारायन पांडेय, शारदा पांडेय, जयशंकर पांडेय,अवधेश पांडेय, नारायण पांडेय, अवध नारायण सिंह, कृष्णचंद चौबे, प्राणनाथ पांडेय समेत भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।
Previous articleजौनपुर : अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की दर्दनाक मौत
Next articleजौनपुर : पारम्परिक ढंग से शुरू हुई सीबीएसई बोर्ड 10वीं की पहली परीक्षा
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏