जौनपुर : भाजपा की हार का कारण बनेगा अल्पसंख्यक ध्रुवीकरण- मो. आज़म खान

जौनपुर : भाजपा की हार का कारण बनेगा अल्पसंख्यक ध्रुवीकरण- मो. आज़म खान

# अल्पसंख्यक समाज की एकजुटता समाजवादी पार्टी की है मजबूती- डॉ सरफराज़

जौनपुर।
फैज़ान अंसारी
तहलका 24×7
                 आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासती बिसात बिछना शुरू हो गई है। जन विरोधी भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए रणनीति बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। इस कड़ी में समाजवादी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की एक अहम बैठक अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला कार्यालय जफराबाद पर आयोजित हुई। बैठक के मुख्य अतिथि अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष आज़म खान रहे वहीं बैठक की अध्यक्षता जनाब ईशा फारूकी ने की।
बैठक कै सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि मो. आज़म ख़ान ने कहा कि जन विरोधी, किसान विरोधी, अल्पसंख्यक विरोधी तानाशाह भाजपा को सत्ता से बाहर करने का माद्दा सिर्फ और सिर्फ अल्पसंख्यक समुदाय की एकजुटता में है। अल्पसंख्यक समुदाय का ध्रुवीकरण ही आगामी विधानसभा चुनाव में जीत-हार तय करेगा। इसलिए अल्पसंख्यक समुदाय को पूरी तरह समाजवादी पार्टी को मजबूत करना है और अखिलेश यादव को एक बार पुनः सूबे का मुख्यमंत्री बनाना है। बेरोजगारी, मंहगाई, भ्रष्टाचार, अपराध, हलकान किसान के मुद्दे से भाजपा ने सभी का ध्यान भटका दिया है। अब भाजपा साम्प्रदायिक माहौल बनाने और स्थानों का नामकरण कर एक विशेष वर्ग को हाशिए पर ला रही है इसलिए अब समय आ गया कि अल्पसंख्यक भी एकजुट हों।
वहीं अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष डॉ सरफराज़ ने कहा कि बूथ जीतकर ही चुनाव जीता जा सकता है इसलिए सभी साथी बूथ स्तर पर मतदाता सूची में अधिक से अधिक लोगों को जोड़े क्योंकि आपका एक वोट भाजपा की हार का सबब बनेगा। अब इसकी जिम्मेदारी हम सभी अल्पसंख्यक समुदाय पर है इसलिए हमें संकल्पित हो कर भाजपा की करारी शिकस्त में अपनी सहभागिता दर्ज करानी होगी जो हमारे सुनहरे भविष्य का निर्माण करेगा।
बैठक का संचालन जमाल हाशमी ने किया। इस मौके पर मज़हर आसिफ, अनवारुल हक़, महासचिव हिसामुद्दीन शाह, कलीम अहमद, अरशद क़ुरैशी, सजिद अलीम, अलमास अंसारी, शाहनवज़ शेखु, शकील मंसूरी, इरशाद मंसूरी, हफ़ीज़ शाह, अज़मत खान, शाहरुख शेख, नजमी अरशद, शमीम अहमद, जमील मंसूरी, अंसार अहमद, तौफ़ीक़ अहमद, सोहेल एडवोकेट, मुनव्वर खां, लुक़मान अहमद, अज़ीज अब्दुल कय्यूम, सिराज खान, फ़िरोज़ खान, हाजी फखरुदीन, अदील, फैज़ान, रिज़वान, मंसूर, खुर्रम एडवोकेट, सकिब जमाल, सऊद ज़िया, आमिर खान, मोहम्मद अहमद, हफ़ीज़ इमाम, तहज़ीब, फुरकान, अरशद मुनव्वर, राशिद खान, इरशाद खान,अयान खान, नवीद खान, आरिफ वहीद, फारूक, जावेद अनवर, शाद रिज़वान क़ुरैशी, माज़ खान, जकी खान, आसी खान, अनस उर्फ बॉबी, ज़मीर खान उर्फ राजन खान, मुमताज़ हाशमी, रशीद हाशमी मौजूद रहे।
Previous articleसुल्तानपुर : लोकार्पण के साथ ही शुरू होगा पूर्वांचल के विकास का सफर
Next articleआजमगढ़ : सुबह से हो जा रही है शाम, किसानों को नहीं मिल पा रहा डाई-यूरिया
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏