जौनपुर : माँ दुर्गा की अष्टधातु की प्रतिमा मिलने से क्षेत्र में हर्ष

जौनपुर : माँ दुर्गा की अष्टधातु की प्रतिमा मिलने से क्षेत्र में हर्ष

# दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं लग रहा है तांता

केराकत।
विनोद कुमार
तहलका 24×7
                कोतवाली क्षेत्र के ग्राम महादेवा घाट के पास मछली मारने के लिये निकले मछुआरों के खुशी का ठिकाना उस समय नहीं रहा जब मछली की जगह अष्टधातु की मां दुर्गा की प्रतिमा जाल में मिल गयी। दिन भर प्रतिमा का दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। 
बताते हैं कि गुरुवार की शाम चार बजे ग्राम सरोज बड़ेवर निवासी सहादुर निषाद, शशिकान्त निषाद, चन्दुकल निषाद, बजरंगी निषाद ,पंचदेव निषाद, डब्लू निषाद एवं कलेक्टर निषाद मछली पकड़ने जाल को लेकर नदी में चल दिये। जाल को नदी में फेंक दिया। सायंकाल सात बजे कुछ दूर आगे जाकर कुसरना गांव के महादेवा गोमती घाट पहुंच कर जब सभी मछुआरे ने जाल खींचा तो लगभग 2 फिट ऊंची अष्टधातु की मां दुर्गा की प्रतिमा दिखाई दी। जिसको देखकर सभी मछुआरे खुशी से झूम उठे और जय मां दुर्गा का जयकारा लगाते हुए बाहर निकाला।
अष्टधातु की प्रतिमा मिलने की सूचना आस पास के गाँव में जंगल की आग की तरह फैल गयी। फिर क्या था? आस पास के गांवों से महिलाएं, पुरुष व बच्चे उमड़ पड़े। शुक्रवार को दिन भर प्रतिमा का दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। मछुआरे सहादुर निषाद ने कहा कि मां दुर्गा जी की हम लोगों पर बड़ी कृपा है। जो कहीं से बहती हुई हमारे जाल में आकर फंस गयीं। अब हम लोगों ने निश्चय किया है कि मां दुर्गा की जो अष्टधातु प्रतिमा हमें मिली है। उसे नदी के तट पर एक विशाल मंदिर बनाकर उसमें स्थापित कर दिया जायेगा।

अष्टधातु की मूर्ति लगभग 2 फीट लंबी है। मछुआरों का कहना है कि अष्टधातु की मूर्ति मिलने के बाद वह अपने घाट पर भव्य मंदिर बनवाना चाहते हैं। वहीं मूर्ति मिलने के सूचना पर बड़ी संख्या में मछुआरों की भीड़ लग गई। वहीं दर्शन के लिए गांव के लोग भी पहुंचने लगे। ग्रामीणों ने बताया कि मूर्ति का सम्बन्ध राजा के महल से हो सकता है।
Previous articleजौनपुर : बूथ जीतने वाला ही होता है सबसे बड़ा नेता- स्वामी भानू
Next articleजौनपुर : चोरों ने नगदी समेत चार लाख का जेवर किया पार, छानबीन में जुटी पुलिस
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏