जौनपुर : मासूम बच्चों पता नही कि यतिमी क्या होती है- शाहिद रिजवी

जौनपुर : मासूम बच्चों पता नही कि यतिमी क्या होती है- शाहिद रिजवी

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
                नगर के मोहल्ला पोस्तीखाना में रविवार को मरहुम आदिल ताज ताजवर की मजलिसे चेहलूम को खेताब करते हुए महाराष्ट्र मुम्बई से आये मौलाना सै. शाहिद हुसैन रिज़वी ने कहा कि मजलिस चाहे जिसकी हो हमे हर मजलिस में शिरकत करना चाहिए चाहे दावत नामा मिला हो यह न मिला हो और यतिमी क्या होती है उस पर विस्तार से रौशनी डाली। और कहा जिस इंसान ने अपने वालिद और वालिदा की बात नहीं मानी और उनकी सेवा नहीं किया वह इंसान न दीन का होगा और न दुनिया होगा उसे हर मोड़ पर वह ठोकरे खायेगा और आखरत में भी उसे सज़ा मिलेगी।

मौलाना शाहिद रिजवी ने मौला हज़रत अब्बास के जीवन चरित्र पर विस्तार से रौशनी डाली इससे पूर्व सोज़ख़्वानी सै.गौहर अली ज़ैदी व उनके हमनवां ने पढ़ा पेशखानी में वहदत जौनपुरी व शम्शी आज़ाद परवेज जौनपुरी ने अपने मकसूस अंदाज में बयान किया। बाद खत्म मजलिस शहर की मशहूर अंजुमन जुल्फेकारिया बड़ी मस्जिद जौनपुर के सहाबे बयाज़ जहीर हसन खां ने अपने अंदाज में दर्द भरे नौहे पढ़ कर करबला के शहीदों को पुरसा दिया। इस मौके पर सैय्यद मोहम्मद इसरार एडवोकेट, सैय्यद नजर हसन एडवोकेट, ख्वाजा शमशीर हसन. पूर्व सीओ तौकीर हसन, इशरत हुसैन, मुन्ना अकेला, दिलगीर हसन, नायब हसन सोनू, रिज़वान हैदर राजा सहित अन्य लोग मौजूद थे। पत्रकार तामीर हसन शिबू व फैसल हसन तबरेज ने आए हुए तमाम मोमनीन का शुक्रिया अदा किया।
Previous articleजौनपुर : शुरू हुआ सुप्रसिद्ध श्रीराम लीला का मंचन,
Next articleजौनपुर : पूर्व प्रधान व समाज सेविका कांति देवी को दी गयी श्रद्धांजलि
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏