जौनपुर : राजनीति में कायस्थों की भागीदारी नहीं तो वोट नहीं- मुकेश श्रीवास्तव

जौनपुर : राजनीति में कायस्थों की भागीदारी नहीं तो वोट नहीं- मुकेश श्रीवास्तव

जौनपुर।
विश्व प्रकाश श्रीवास्तव
तहलका 24×7
               बरेली अखिल भारतीय कायस्थ महासभा द्वारा कायस्थ समागम का आयोजन एवं कलम दवात मूर्ति का अनावरण सम्पन्न हुआ। कार्यकम आयोजक युवा प्रदेश अध्यक्ष गौरव सक्सेना ने बताया कि कार्यक्रम की अध्यक्षता महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री विश्व मोहन कुलश्रेष्ठ ने किया। मुख्यातिथि महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष मुकेश श्रीवास्तव रहे। विशिष्ट अतिथि प्रदेश अध्यक्ष डॉ इन्द्रसेन श्रीवास्तव एवं सपा के एमएलसी आशुतोष सिन्हा रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ चित्रगुप्त वंदना से हुई।समागम में एक सुर में तमाम वक्ताओं ने कायस्थों के लिए राजनीतिक भागीदारी की मांग करते हुए कहा कि आज राजनीतिक पार्टियों ने हमारी आपसी फूट के कारण हमें राजनीतिक गलियारों से हाशिए पर ला दिया है।

एक समय हुआ करता था जब हमारे कायस्थ समाज के लोग तमाम राजनीतिक पदों पर नेता मंत्री विधायक हुआ करते थे। लेकिन पूर्ववर्ती व वर्तमान सरकार ने हमारे सभी नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया है यदि अब हम नहीं चेते तो हमारी आने वाली नस्लों के सामने भी बड़ा संकट पैदा होगा और समाज से हमारा अस्तित्व भी समाप्त हो जाएगा। यहां तक कि देश की सबसे शुरुआती राजनीतिक पंचायत जो गांव से शुरू होती है उसमें ज्यादातर गांव के पटवारी कायस्थ समाज के लोग ही हुआ करते थे आज यह संख्या ना के बाहर हो चुकी है। जब हम एकजुट होंगे तो सभी राजनीति पार्टी हमारे पीछे आएगी। सभी वक्ताओ ने एक स्वर में कहा कि राजनीति में कायस्थों की भागीदारी नही तो वोट नही।

समागम के पश्चात भारी संख्या में चौराहे पर स्थापित कलम दावत मूर्ति का अनावरण एमएलसी आशुतोष सिन्हा द्वारा किया गया। कार्यक्रम में महासभा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री पीसीएल श्रीवास्तव, राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष मेघना श्रीवास्तव, प्रदेश के कार्यकरी अध्यक्ष विनय श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश सक्सेना ने विचार रखे। समागम में जिले सहित प्रदेश के तमाम पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे। उक्त आशय की जानकारी प्रदेश प्रवक्ता विश्व प्रकाश श्रीवास्तव द्वारा प्रेस को जारी विज्ञप्ति के माध्यम से दिया गया।

Earn Money Online

Previous articleजौनपुर : बड़बोले बोल ! राजभर बिरादरी का गद्दार है असलम राजभर- अनिल राजभर
Next articleजौनपुर : संस्कार भारती ने कराया कला एवं संस्कृति ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन
तहलका24x7 की मुहिम... "सांसे हो रही है कम, आओ मिलकर पेड़ लगाएं हम" से जुड़े और पर्यावरण संतुलन के लिए एक पौधा अवश्य लगाएं..... 🙏